ब्रेकिंग
हरदा जोशी कालोनी के रहवासी बिजली की समस्या से परेशान, बिजली फीडर कर्मचारी बोला मेरा काम सोने का है। ... तेंदू पत्ता की गड्डियां गिनवाते समय मधुमक्खियां का हमला 7 घायल, सिराल्या गांव का मामला नेमावर: कंटेनर ने कार को मारी टक्कर , दुर्घटना में एक की मौत, दो गंभीर रामनगर के पास की घटना Sivanimalwa: भीलटदेव मे मेले के बाद नही हुई सफाई गंदगी खाने से गोवंश की हो रही मौत ,प्रशासन का नहीं ... हरदा नपा CMO इंजीनियर ठेकेदार की साठगांठ से जमकर हो रहा भ्रष्टाचार, कांग्रेस ने पूर्व में की थी शिका... मातृशक्ति उद्यमिता योजना: महिलाओं को मिलेगा 3 लाख रुपए का लोन, यहां देखे आवेदन प्रक्रिया Aaj ka rashifal: आज दिनांक 22/05/2024 का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे हरदा: बेटे के शादी में घूमर डांस कार्यक्रम करवाना एक मुस्लिम परिवार को भारी पड़ा, एक लाख रुपए का जुर... Phone Pay Loan 2024: ऐसे लो फोन पे से 50 हजार रुपए तक का लोन, देखे पूरी प्रक्रिया हरदा कलेक्टर श्री सिंह ने प्रशिक्षु अधिकारियों से भेंट कर मार्गदर्शन दिया

सावधान सावधान: बिजली मीटर से छेड़छाड़ करने वालों को हो सकती है 3 साल की सजा और 10 हजार रु. का जुर्माना

हरदा / मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि यदि बिजली के मीटर मे अनावश्यक छेड़छाड़ पाई जाती है तो ऐसा करने वालों के विरूद्ध धारा 136 के तहत कार्रवाई होगी। कंपनी का कहना है कि किसी उपभोक्ता को मीटर, उसकी रीडिंग, बिलिंग या बिजली व्यवधान जैसी कोई शिकायत हो तो वे तुरंत कॉलसेंटर के फोन नंबर 1912 पर या ऑनलाइन वेबसाइट portal.mpcz.in अथवा “उपाय” एप या बिजली वितरण केन्द्र, जोन कार्यालय में शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

उपभोक्ताओं की शिकायतों के निराकरण की पूरी व्यवस्था की गई है। यदि उपभोक्ता शरारती तत्वों के बहकावे में आकर मीटर में तोड़फोड़ या उखाड़कर अन्यत्र स्थापित करने या सर्विस लाइन को नुकसान पहुंचाने का कार्य करते हैं तो उनके विरूद्ध विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 136 के तहत कार्रवाई होगी जिसमें 3 वर्ष का कारावास अथवा 10 हजार रूपये का जुर्माना अथवा दोनों सजाओं से दण्डित करने का प्रावधान है।

विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 136 में यह प्रावधान है कि ‘अनुज्ञप्तिधारी या स्वामी की सहमति के बिना कोई इलेक्ट्रिक लाइन, सामग्री या मीटर को हटाएगा या ले जाता है या अन्यत्र जगह लगाता है, चाहे वह कार्य लाभ या अभिलाभ के लिए किया गया हो या नहीं, तो इसे विद्युत लाइनों और सामग्री की चोरी का अपराध कहा जाएगा और वह कारावास से जिसकी अवधि 3 वर्ष तक की हो सकेगी या जुर्माने से या दोनों से दण्डनीय होगा।

- Install Android App -

Don`t copy text!