2 संदिग्ध कारें और 7000 मोबाइल फोन में उलझी जांच, पढ़िए मोहाली अटैक का अपडेट

Maa Sharda Mandir

Mohali RPG Attack : पंजाब के मोहाली में सोमवार रात करीब आठ बजे खुफिया विभाग के मुख्यालय पर ग्रेनेड से हमला हुआ। आरपीजी (राकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड) इमारत की तीसरी मंजिल पर फायर हुआ, जो खिड़की तोड़ते हुए अंदर जा गिरा, लेकिन फटा नहीं। पुलिस ने मंगलवार सुबह नए सिरे से जांच शुरू की। अब तक की पड़ताक के मुताबिक, दो संदिग्ध सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार में पहुंचे और खुफिया कार्यालय की इमारत से करीब 80 मीटर की दूरी से आरपीजी लॉन्च किया। पुलिस को विस्फोट स्थल के करीब तीन मोबाइल फोन टावरों से करीब 7,000 मोबाइल फोन मिले हैं।

क्या होता है आरपीजी

आरपीजी (राकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड) एक पोर्टेबल राकेट लांचर होता है, जिससे ग्रेनेड दागा है। इसे एक व्यक्ति उठाकर चल सकता है। आरपीजी को टैंक रोधी हथियार के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। पूरा इलाका सील करते हुए राज्य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने डीजीपी वीके भावरा से मामले की रिपोर्ट तलब कर ली है। बताया जा रहा है कि हमलावरों की साजिश खुफिया विभाग के मुख्यालय को उड़ाने की थी।

Shri

घटना के कुछ ही देर बाद एडीजीपी आरएन डोके, आइजी इंटेलीजेंस और मोहाली के एसएसपी समेत आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम जांच में जुट गई है। सेक्टर 77 स्थित खुफिया विभाग के मुख्यालय के सामने सोहाना अस्पताल की बाउंड्री है। अस्पताल के साथ खुफिया विभाग की पाकिर्ग है। यह इलाका पूरी तरह से खाली पड़ा है। इसलिए सोहाना अस्पताल में भी सर्च अभियान चलाया गया। मौके पर सभी सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही है। आरपीजी की अधिकतम रेंज 700 मीटर होती है। ऐसे में पुलिस अधिकारियों को आशंका है कि यह आरपीजी आसपास के एरिया से ही फायर किया गया है। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर ने घटना पर चिंता जताई है।

पंजाब पुलिस के “दिमाग” पर हुआ हमला

राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था और पाकिस्तान से आ रहे ड्रोन की घटनाओं के बीच मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग पर हुए हमले ने राज्य सरकार को हिला कर रख दिया है। पुलिस भले ही आधिकारिक रूप से इसे कोई आतंकी हमला न बताकर हलका विस्फोट बता रही हो, लेकिन हकीकत यह है कि हमला पंजाब पुलिस के “दिमाग” पर किया गया है। सेक्टर-77 के खुफिया विभाग का मुख्यालय दफ्तर है जहां से सारी खुफिया जानकारी एकत्र की जाती है। यहीं से केंद्र सरकार और केंद्रीय खुफिया एजेंसी को भी जानकारियां भेजी जाती हैं। जिस सुनियोजित तरीके से हमला हुआ है, उसे नजरंदाज नहीं किया जा सकता है। क्योंकि पिछले दिनों ही चंडीगढ़ में बुड़ैल जेल की दीवार के पास टिफिन बम पकड़ा गया था।

Maa Sharda Mandir

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
अखिल भारतीय गुर्जर महासभा का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ संपन्न, कई राज्यो से पधारे सामाजिक बंधुओ ने रखे अ... लापता युवक का शव 24 घण्टे बाद एक किमी दूर अतरसुम्बा में मिला  तांत्रिक ने बच्ची की गर्दन काटने का किया प्रयास, गन्ने की पत्ती से काट रहा था, ग्रामीणों को देखकर भा... सिवनी में माब लिचिंग में मारे गए लोगों के परिवार से मिले कमल नाथ राजधानी में महिला से गैंगरेप : पहले अश्लील VIDEO बनाया, फिर ब्लैकमेल कर 2 लोगों ने कई बार किया दुष्क... केमिकल फैक्ट्री में आग लगते ही हुआ विस्फोट, दो की मौत, कई लोग झुलसे, दिग्विजय और नेता प्रतिपक्ष गोवि... बारात से लौट रही गाड़ी नहर में गिरी, 4 ने तैरकर बचाई जान, 14 साल का किशोर लापता, रेस्क्यू जारी 40 रुपए सस्ता हुआ सरसों का तेल, सोयाबीन-मूंगफली तेल के भाव में भी भारी गिरावट, देखें नई कीमत जब फ्री में मिलने लगा पेट्रोल, 5 मिनट में टंकी फूल कराने उमड़ पड़ी हजारों की भीड़, जानिए फिर क्या हुआ ! मध्य प्रदेश में मंकीपाक्स को लेकर अलर्ट, मंत्री ने कहा, अभी यहां कोई केस नहीं