ब्रेकिंग
आनंद उत्सव में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा 16 साल की लड़की से पिता और भाई ने 2 साल तक किया रेप, ऐसे हुआ हैवानियत का खुलासा बीएचआरसी ग्रुप ने आयोजित की पत्रकार वार्ता, रखे सुझाव हरदा : गणतंत्र दिवस पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं लोकतंत्र सेनानियों को उनके घर जाकर किया जाएग... हरदा : समारोहपूर्वक मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस, आयोजन के संबंध शासन ने किये दिशा निर्देश जारी हरदा : गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों की समीक्षा की कलेक्टर गुप्ता ने UP Chunav 2022: कैराना में अमित शाह की घर-घर जाकर भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील माघ मेला 2022: नहीं देखी होगी ऐसी साधना...पूजा पाठ का ये अनोखा तरीका, आकर्षण का केंद्र बना शिविर असदुद्दीन ओवैसी ने किया बाबू सिंह कुशवाहा और भारत मुक्त मोर्चा के साथ गठबंधन, निकाला 2 CM का फॉर्मूल... ओडिशा में 927 बच्चे Covid पॉजिटिव, 7 मरीजों की मौत- UP में स्कूल कॉलेज 30 जनवरी तक बंद

S-400 बनाने वाली रूसी कंपनी से भी रिलायंस की डील

नई दिल्ली: अमरीका की चेतावनी के बावजूद भारत ने आखिरकार रूस से एस-400 वायु रक्षा प्रणाली खरीदने के लिए 5 अरब डॉलर के समझौते पर शुक्रवार को हस्ताक्षर किए। इस मिसाइल सिस्टम की डील को लेकर वर्ष 2015 से भारत-रूस के बीच बात चल रही थी।
साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मास्को यात्रा के दौरान अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफैंस ने रूस के अल्माज-एंटी के साथ 6 अरब डॉलर के संभावित विनिर्माण और रख-रखाव सौदे पर हस्ताक्षर किए थे।
बता दें कि अल्माज एंटी रोसोबोरोनक्सपोर्ट की सहायक कंपनी है और एस-400 की प्रमुख निर्माता है। 24 दिसम्बर 2015 को रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड ने अपनी एक प्रैस रिलीज में इसका जिक्र किया था। इसमें लिखा था कि डी.ए.सी. ने एस-400 वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम के अधिग्रहण को मंजूरी देकर 6 अरब डॉलर के व्यापार का मौका दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!