ब्रेकिंग
छगन भुजबल पर समाजिक कार्यकर्ता को जान से मारने की धमकी का आरोप , मामला दर्ज HARDA BIG NEWS : दुष्कर्म के एक सनसनीखेज मामले में आरोपीगण दोषमुक्त, अंतरराष्ट्रीय कराते कोच है नीले... MP BIG NEWS: भोपाल पुलिस की बड़ी कार्यवाही चोरी की 37 बाइक जप्त, 5 आरोपी गिरफ्तार, एक युवक हरदा जिले ... प्रधानमंत्री मोदी आज करेगे 5जी की लांचिंग, देश तकनीक में एक और कदम आगे जानिए ... जीएसटी में 1 अक्टूबर से क्या होगा, नया परिवर्तन कांग्रेस अध्यक्ष की नामांकन प्रक्रिया पूरी,मल्लिकाजुन खड़गे,थशि थरुर और केएन त्रिपाठी में होगा मुकाबल... राजस्व निरीक्षक ने फसल आनावारी हेतु किया फसल कटाई प्रयोग आज दिन शनिवार का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे आज नवरात्रि का छठा दिन है। जानिये मां कात्यायनी के महिमा के बारे में एनटीपीसी सेल्दा खरगोन में अखिल भारतीय हास्य कवि का हुआ आयोजन, श्रोताओं ने उठाया लुप्त

इडोंनेशियाः साल 2018 में बरपा कहर, 3200 से ज्यादा की मौत, हजारों घर तबाह

Header Top

जकार्ताः इंडोनेशिया के लिए वर्ष 2018 बड़ा मनहूस माना जा रहा है। कारण है इस देश को इस साल में  बार-बार भूकंप और सुनामी जैसी प्राकृतिक आपदाओं का कहर झलना पड़ा। इन आपदाओं में यहां कुल 3200 से ज्यादा लोगों की जान चली गई और हजारों घर तबाह हो गए।  इसी साल जुलाई के अंत में  6.4 मैग्नीट्यूड और फिर 5 अगस्त को इंडोनेशिया में 6.9 मैग्नीट्यूड का भूकंप आया था। इंडोनेशिया के द्वीप लंबोक और पास के बाली में सबसे ज्यादा तबाही देखने को मिली थी।  इसके बाद भी कई बार भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इस आपदा में करीब 470 लोगों की मौत हुई थी।
इसके बाद 28 सितम्बर को यहां आए भूकंप और सुनामी से लगभग 2500 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और हजारों घर तबाह हो गए थे। जबकि पूर्व चेतावनी के कारण काफी लोगों को पहले ही क्षेत्र से निकाला जा चुका था। अभी इन आपदाओं के जख्म भरे भी नहीं थे कि साल के अंत में फिर यहां सुनामी का कहर टूट पड़ा।
23 दिसम्बर को आई इस सुनामी में  अब तक मरनेवालों की संख्या 281 तक पहुंच गई है और 1000 से अधिक लोग घायल हैं। क्रिसमस वीकेंड होने के कारण समुद्र के किनारे बड़ी संख्या में लोग छुट्टी मनाने आए थे, लेकिन अचानक आई सुनामी ने सबको दहशत में डाल दिया। इंडोनेशिया के प्राकृतिक आपदा संरक्षण टीम का कहना है कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है क्योंकि काफी लोग बड़ी संख्या में लापता भी हैं।
सुनामी के कारणों का अभी ठीक से आकलन नहीं किया जा सका है, लेकिन माना जा रहा है कि ज्वालामुखी फटने के कारण पानी के भीतर हुई हलचल के कारण सुनामी की आपदा आई। इंडोनेशिया में दुनिया में सबसे अधिक भूकंप और सुनामी आते हैं क्योंकि दुनिया में सबसे अधिक सक्रिय ज्वालामुखी इसी क्षेत्र में पड़ते हैं। इसी कारण इस देश को भौगोलिक स्थिति के आधार पर रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!