Rajhansh

देश में पहली बार 43 दिन यात्री ट्रेनें नहीं चलेंगी

Header Top

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के नाम अपने चौथे संदेश में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया। इसी के साथ यह साफ हो गया कि देश में आवाजाही का सबसे बड़ा साधन यानी यात्री ट्रेनें भी 3 मई तक बंद रहेंगी। लोकल और इंटर स्टेट ट्रांसपोर्ट के लिए इस्तेमाल होने वाली बसें भी बंद रहेंगी।

देशभर में यात्री ट्रेनें जनता कर्फ्यू के दिन यानी 22 मार्च से ही बंद हैं। देश में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि ट्रेनें लगातार 43 दिन बंद रहेंगी। लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाने की प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद रेलवे ने बयान जारी कर कहा कि प्रीमियम ट्रेनें, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें, पैसेंजर ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो और कोंकण रेलवे की सभी ट्रेनें 3 मई को रात 12 बजे तक बंद रहेंगी। हालांकि, इस दौरान मालगाड़ियां चलती रहेंगी।

क्या बुकिंग हाेगी?
नहीं। रेलवे ने कहा है कि आरक्षित या गैर-आरक्षित यात्रा करने के लिए सभी रेलवे स्टेशनों पर या स्टेशनों के बाहर टिकटों की बुकिंग भी 3 मई की आधी रात तक बंद रहेगी।

क्या रिफंड मिलेगा?
रेलवे बोर्ड ने कहा है कि अगर किसी ने 3 मई तक की यात्रा के लिए टिकट बुक करा रखा है तो इसका फुल रिफंड लोगों को दिया जाएगा। लॉकडाउन के दौरान कैंसल ट्रेनों के टिकटों पर 21 जून तक फुल रिफंड क्लेम कर सकेंगे।

क्या आगे की यात्रा के लिए बुकिंग शुरू होगी?
रेलवे बोर्ड का कहना है कि अगले नोटिस तक एडवांस रिजर्वेशन नहीं होंगे।

लॉकडाउन के साथ ट्रेनें रोकना क्यों जरूरी?
रेलवे 12 हजार यात्री ट्रेनें चलाता है। इनमें 9 हजार पैसेंजर ट्रेनें और 3 हजार मेल एक्सप्रेस हैं। इनमें रोजाना 2.3 करोड़ लोग सफर करते हैं। ट्रेनें चलने पर यात्रियों पर कोरोना के संक्रमण का खतरा रहेगा। इसलिए ट्रेनें रोकना जरूरी है।

जब लॉकडाउन खत्म हो जाएगा, तब क्या सभी सीटों पर रिजर्वेशन मिलेगा?
सरकार कुछ चुनिंदा रूटाें पर ट्रेनें शुरू कर सकती है। माना जा रहा है कि 30 अप्रैल के बाद भी एकदम से पूरी कैपेसिटी के साथ ट्रेनें शुरू करना मुमकिन नहीं होगा। इसलिए धीरे-धीरे इन्हें शुरू करने की तैयारी है।

रेलवे लॉकडाउन खुलने के बाद क्या तैयारी कर रहा है?

  • साेशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए आधी सीटों पर ही रिजर्वेशन दिया जा सकता है।
  • काेराेना संक्रमण के हाॅट स्पाॅट पर ट्रेनें नहीं रुकेंगी।
  • भीड़-भाड़ से बचने के लिए स्टेशनाें पर स्टाॅपेज का टाइम भी दोगुना किया जा सकता है।
  • हर स्टेशन पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सकती है।
  • स्टेशन पर सिर्फ वे पहुंच सकेंगे जिनके पास रिजर्वेशन वाली टिकट है।
  • भीड़ रोकने के लिए हो सकता है कि प्लेटफाॅर्म टिकट न बेचे जाएं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
एक दिवसीय प्रशिक्षण एवं निशुल्क मोतियाबिंद शिविर का हुआ आयोजन दिल दहलाने वाली घटना : पटरी पार करते वक्त ट्रेन आ गई, 3 साल के मासूम को बचाने मां ने फेंका, दोनों की... तन्मय को बचाना है: बैतूल में 66 घंटे से जिंदगी बचाने की जंग जारी, 3 फीट की दूरी बाकी, सुरंग से कभी भ... भीषण सड़क हादसा : ट्रक और लोडर की जबरदस्त टक्कर, 3 की दर्दनाक मौत harda big breaking : रेड फ्लावर स्कूल में छात्र हुआ बेहोश, छात्र की मौत ! अभिनेता मनोज बाजपेई की मां का 80 की उम्र में निधन, लंबे समय से चल रही थीं बीमार मना करने के बाद पत्नि टमाटर लेनेे पड़ोसी के घर जा रही थी पति ने डंडा मार कर दी हत्या अवैध कालोनियों को वैध करने का लालीपाप,, सीएम बोले करेंगें प्रक्रिया सरल और विकास शुल्क कम बारात रवाना होने से पहले धमाके के साथ फटे 2 गैस सिलेंडर,,हादसे में 52 घायल 5 की मौत महिला किसान के खेत में नही पहुंचा पानी, जिला कलेक्टर को भी कई बार की शिकायत, लेकिन जिम्मेदारो ने नही...