Rajhansh

मप्र के आधे हिस्से में आज से कुछ राहत, बाजार खुले

Header Top

भोपाल- इंदौर और उज्जैन समेत हॉटस्पॉट जिलों को कोई रियायत नहीं

भोपाल. मध्य प्रदेश के 26 जिलों के लिए राहतभरी खबर है। आज से यहां बाजार खुल जाएंगे। लोग अन्य जरूरी काम भी कर सकेंगे। हालांकि, मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। प्रदेश सरकार के अनुसार, जो जिले संक्रमण से मुक्त हैं वहां सभी तरह के कामकाज के साथ आर्थिक गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। जहां संक्रमण है, वहां के कंटेनमेंट इलाके में किसी को भी आने-जाने की इजाजत नहीं होगी। बाकी क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ढील रहेगी। इसके साथ ही हॉटस्पॉट बन चुके जिलों में सरकार ने किसी भी तरह की छूट नहीं दी है।

रेड जोन: जहां 10 से ज्यादा केस
इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, मुरैना, बड़वानी, होशंगाबाद, खंडवा, धार, देवास, विदिशा और आगर मालवा जिलों में सरकार ने कोई छूट नहीं दी है। यहां लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाएगा।

Ashara Computer

ऑरेंज जोन: जहां 10 के कम केस
राजगढ़, रायसेन, अलीराजपुर, टीकमगढ़, रतलाम, मंदसौर, शाजापुर, सागर, श्योपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, ग्वालियर और शिवपुरी। यहां लॉकडाइन के तहत जिला प्रशासन छूट के नियम तय करेंगे। यहां के कंटेनमेंट एरिया में आवाजाही और व्यावसायिक गतिविधियां प्रतिबंध रहेंगी।

ग्रीन जोन: जहां संक्रमण को कोई मामला नहीं आया
भिंड, गुना, अशोकनगर, दतिया, नीमच, झाबुआ, सीहोर, बुरहानपुर, हरदा, दमोह, पन्ना, छतरपुर, कटनी, सीधी, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, रीवा, सिंगरौली, सतना, उमरिया, डिंडोरी, शहडोल अनूपपुर, निवाड़ी। यहां लॉकडाउन लागू रहेगा। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य रहेगा। धारा 144 यथावत रहेगी। व्यावसायिक गतिविधियां आम दिनों की तरह चलेंगी।

मंत्रालय-निदेशालय में ढील नहीं  
राज्य में सोमवार से शासकीय कामकाज बढ़ाने और एक तिहाई अधिकारियों को दफ्तर बुलाने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साफ किया कि वल्लभ भवन (मंत्रालय) और निदेशालय (सतपुड़ा और विंध्याचल भवन) में अभी ढील नहीं मिलेगी। पहले की तरह जिन जरूरी विभागों में अफसर आ रहे हैं, वे ही आएंगे। बाकी घर से ही काम करेंगे। जिन अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव को लगता है कि किसी प्रथम या द्वितीय श्रेणी कर्मचारी को बुलाना है तो यह आदेश मौखिक होगा।

भोपाल में 27 नए मामले, इंदौर में 7 नए मरीज मिले
भोपाल में रविवार को 450 सैंपल की रिपोर्ट आईं। इनमें 27 संक्रमित मिले। शहर में पहली बार एक दिन में इतने पॉजिटिव मिले। इनमें दीनदयाल रसोई में काम करने वाला नगर निगम का कर्मचारी, एक दूधवाला, पांच जमाती, चार पुलिसकर्मी और चार बच्चे शामिल हैं। भोपाल में 9 दिन की बच्ची पॉजिटिव मिली है। सीजेरियन डिलेवरी करानी वाली डॉक्टर से उसे वायरस मिला। बच्ची की मां की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इंदौर में 7 नए मरीज मिले। यहां चार मरीजों की मौत भी हुई है।

कोटा में फंसे छात्र 1-2 दिन में आएंगे, 100 बसें भेजी जाएंगी

मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोटा (राजस्थान ) पढ़ने गए करीब 2500 छात्र-छात्राओं को लाने की तैयारी हो रही है। एक-दो दिनों में 50 सीटर करीब 100 बसें भेजी जाएंगी। एक बस में 20 ही छात्र बैठेंगे। दूसरे राज्यों में फंसे मध्यप्रदेश के मजदूरों को भी लाने की तैयारी है। राज्य की सीमा पर उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी। जरूरत पड़ी तो उन्हें कुछ समय के लिए वहीं रखा जा सकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
एक दिवसीय प्रशिक्षण एवं निशुल्क मोतियाबिंद शिविर का हुआ आयोजन दिल दहलाने वाली घटना : पटरी पार करते वक्त ट्रेन आ गई, 3 साल के मासूम को बचाने मां ने फेंका, दोनों की... तन्मय को बचाना है: बैतूल में 66 घंटे से जिंदगी बचाने की जंग जारी, 3 फीट की दूरी बाकी, सुरंग से कभी भ... भीषण सड़क हादसा : ट्रक और लोडर की जबरदस्त टक्कर, 3 की दर्दनाक मौत harda big breaking : रेड फ्लावर स्कूल में छात्र हुआ बेहोश, छात्र की मौत ! अभिनेता मनोज बाजपेई की मां का 80 की उम्र में निधन, लंबे समय से चल रही थीं बीमार मना करने के बाद पत्नि टमाटर लेनेे पड़ोसी के घर जा रही थी पति ने डंडा मार कर दी हत्या अवैध कालोनियों को वैध करने का लालीपाप,, सीएम बोले करेंगें प्रक्रिया सरल और विकास शुल्क कम बारात रवाना होने से पहले धमाके के साथ फटे 2 गैस सिलेंडर,,हादसे में 52 घायल 5 की मौत महिला किसान के खेत में नही पहुंचा पानी, जिला कलेक्टर को भी कई बार की शिकायत, लेकिन जिम्मेदारो ने नही...