Mjaghar

दुनिया में कोरोना से अब तक 1 लाख 70 हजार मौतें

Header Top

वॉशिंगटन. दुनिया में अब तक एक लाख 70 हजार 423 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के 24 लाख 81 हजार मामले हैं। वहीं, छह लाख 46 हजार 675 ठीक हो चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया में शटडाउन होने और बिजनेस बंद किए जाने के बाद लगभग 7 लाख 80 हजार नौकरियां खत्म हुई हैं। ऑस्ट्रेलियाई सांख्यिकी ब्यूरो (एबीएस) और ऑस्ट्रेलियाई टैक्सेशन ऑफिस द्वारा जारी किए गए डेटा से पता चला है कि 14 मार्च और 4 अप्रैल के बीच देशभर में नौकरियों में 6% की कमी आई है। सबसे ज्यादा नुकसान 20 साल से कम उम्र के युवक को हुई है। इस एज ग्रुप में करीब 9.9% की गिरावट आई है। विक्टोरिया और तस्मानिया राज्य में नौकरियों में सबसे बड़ी कमी आई है।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 7 लाख 92 हजार 759 42 हजार 514 73 हजार 389
स्पेन 2 लाख 210 20 हजार 852 80 हजार 587
इटली 1 लाख 81 हजार 228 24 हजार 114 48 हजार 877
फ्रांस 1 लाख 55 हजार 383 20 हजार 265 37 हजार 409
जर्मनी 1 लाख 47 हजार 065 4 हजार 862 91 हजार 500
ब्रिटेन 1 लाख 24 हजार 743 16 हजार 509 उपलब्ध नहीं
तुर्की 90 हजार 980 5 हजार 209 13 हजार 430
ईरान 83 हजार 505 5 हजार 209 59 हजार 273
चीन 82 हजार 747 4 हजार 632 77 हजार 123
रूस 47 हजार 121 405 3 हजार 446

जैक मा डब्ल्यूएचओ को लाखों मास्क और टेस्ट कीट देंगे
अलीबाबा के फाउंडर जैक मा ने मंगलवार को घोषणा की कि वे विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को लाखों मास्क और टेस्ट कीट डोनेट कर रहे हैं। चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वाइबो के जरिए उन्होंने कहा- वे 10 करोड़ क्लिनिकल मास्क, 10 लाख एन-95 मास्क और 10 लाख टेस्ट कीट डोनेट कर रहे हैं। पोस्ट के साथ उन्होंने ‘वन वर्ल्ड, वन फाइट’ भी लिखा।

अमेरिका: 24 घंटे में 1,939 मौतें

अमरिका में 24 घंटे में 1,939 लोगों की जान गई है और 28 हजार 123 मरीज मिले हैं। यहां अब तक 42 हजार 514 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि इस संकट में वायरस के खतरे से बचने और अमेरिकी नागरिकों की नौकरियां बचाने के लिए वे देश में विदेशी नागरिकों का प्रवासन अस्थायी तौर पर बंद करेंगे। अमेरिका में कोरोना के कहर के कारण बेरोजगारी दर में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। यहां अब तक 1.68 करोड़ लोग बेरोजगार हुए। नागरिकों की नौकरी जाने की वजह से राष्ट्रपति ने यह फैसला लिया है। ट्रम्प ने ट्वीट किया- अदृश्य दुश्मन के हमले को देखते हुए ग्रेट अमेरिकियों की नौकरी बचाने के लिए मैं यहां बसने वाले विदेशी नागरिकों के पाबंदी वाले अस्थायी आदेश पर हस्ताक्षर करेंगे।

अमेरिका में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य न्यूयॉर्क है, जहां अब तक 18 हजार 929 लोगों की जा जा चुकी है। न्यूयॉर्क स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को बताया कि न्यूयॉर्क स्टेट में अभी तक दो लाख 47 हजार 512 संक्रमित हैं। वहीं न्यूयॉर्क शहर में यह आंकड़ा एक लाख 36 हजार 806 है। इससे पहले न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने बताया कि रविवार को न्यूयॉर्क में 478 संक्रमितों की मौत हुई है जबकि शनिवार को 507 लोगों ने जान गंवाई थी।

वर्जिन ऑस्ट्रेलिया ने दिवाला कानून के तहत संरक्षण मांगा

ऑस्ट्रेलिया की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी वर्जिन ऑस्ट्रेलिया ने मंगलवार को ऋण संकट से उबरने के लिए दिवाला कानून के तहत संरक्षण की मांग की है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने वर्जिन के 1.4 अरब ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का कर्ज देने के अनुरोध को खारिज कर दिया था।

अमेरिकी कच्चे तेल की कीमतों में ऐतिहासिक गिरावट
अमेरिकी कच्चे तेल की कीमतों में सोमवार को ऐतिहासिक 105% की गिरावट दर्ज की गई। पहली बार तेल की कीमतें माइनस 2 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई। वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) के मई वितरण में 300% से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई। कोरोना संकट की वजह से दुनियाभर में घटी तेल की मांग के चलते इसकी कीमतें लगातार गिर रही हैं। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब अमेरिकी कच्चे तेल की कीमत इतनी नीचे पहुंची है। रिस्ताद एनर्जी के प्रमुख ब्योर्नार टोनहुगेन ने कहा,“वैश्विक आपूर्ति की मांग में कमी की समस्या की वजह से तेल की कीमतों में वास्तविक तौर पर गिरावट आने लगी है।” कोरोना के खतरे के कारण ज्यादातर देशों में लगाए लॉकडाउन के कारण तेल की मांग में भारी कमी आई है। इसके चलते तेल कंपनियों के भंडार पूरी तरह से भर चुके हैं।

  • तेल की कीमतें निगेटिव होने को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि एक स्तर तक बहुत सारे लोगों के लिए यह दिलचस्प है। अमेरिका अपने पेट्रोलियम भंडार को भरना चाहेगा। हम करीब 7.5 करोड़ बैरल रिजर्व रखना चाहते हैं। हमारी सरकार तेल कीमतों को ठीक कर लेगी।
  • टेस्टिंग कीट को लेकर ट्रम्प ने राज्यों के गवर्नरों की आलोचना की। उन्होंने कहा कि उन लोगों को पता ही नहीं है कि टेस्ट करने की सही प्रक्रिया क्या है। राज्यों के पास पर्याप्त टेस्टिंग की क्षमता है।
  • अमेरिका में हिंदू संगठनों के समूह ने भारततीय छात्रों के लिए हेल्पलाइन नंबर शुरू की है। हिंदू युवा, भारतीय, विवेकनंद हाउस और सेवा इंटरनेशनल ने संयुक्त रूप से ‘कोलिड-19 स्टूडेंट सपोर्ट नेटवर्क’ पहल की है। वॉशिंगटन में इसका काम देख रहे प्रेम रंगवानी ने कहा कि इसे 90 छात्र चला रहे हैं।

अमेरिका में कई भारतीय डॉक्टर्स की मौत

अमेरिका और ब्रिटेन में कई भारतीय मूल के डॉक्टर और अन्य मडिकल स्टाफ दिन-रात जुटे हैं। कई डॉक्टरों की मौत भी हो चुकी है। पिछले सप्ताह न्यूयॉर्क के अस्पताल में एक भारतीय डॉक्टर माधवी अया की संक्रमण के से मौत हो गई थी। संक्रमित में ज्यादा भारतीय डॉक्टर न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी में हैं। डॉक्टर रजत गुप्ता (बदला हुआ नाम) न्यूजर्सी में एक कोरोना मरीज की जांच कर रहे थे। इसी दौरान उसने डॉ. गुप्ता के चेहरे पर उल्टी कर दी। इसके बाद वे भी संक्रमित हो गए और उनकी भी मौत हो गई। भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टरों के संघ (एएपीआई) के सचिव रवि कोहली ने कहा- कम से कम 10 डॉक्टर गंभीर हैं। किडनी रोग विशेषज्ञ प्रिया खन्ना (43) का हाल में न्यूजर्सी में निधन हो गया। उनके सर्जन पिता सत्येंद्र खन्ना भी संक्रमित हैं।

इटली: संक्रमण में कमी
महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार इटली में पहली बार संक्रमण के मामलों में कमी आई है। बीबीसी के मुताबिक, सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी की चीफ एजेंलो बोरेली ने कहा कि पहली बार देश में संक्रमण के मामलों में कमी आई है। सोमवार तक यहां एक लाख आठ हजार 237 मरीज हैं, जो या तो अस्पताल में भर्ती हैं या घर में क्वारैंटाइन हैं। रविवार को 486 एक्टिव केस का इजाफा हुआ था। अमेरिका और स्पेन के बाद इटली तीसरा देश है, जहां संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं। यहां अब तक 24 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं, जबकि एक लाख 81 हजार 228 संक्रमित हैं।

फ्रांस: 20 हजार से ज्यादा मौतें
फ्रांस में सोमवार शाम तक मौतों का आंकड़ा 20 हजार से ज्यादा हो गया। बीबीसी के मुताबिक, फ्रांस के सेवा निदेशक ने इन आंकड़ों को प्रतिकात्मक और दुखद बाया है। यहां 24 घंटे में 547 लोगों की मौत हुई है और संक्रमण के 2,489 केस मिले हैं। दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौतों में फ्रांस अब चौथा देश हो गया है। इससे पहले अमेरिका, इटली और स्पेन हैं। फ्रांस में भी लॉकडाउन का विरोध शुरू हो गया है। पेरिस में रविवार को लॉकडाउन के विरोध में दंगे भड़क उठे। यह दंगे उत्तरी पेरिस के विलेन्यूवे ला-गेरेन में भड़के। पुलिस पर आरोप है कि वह लॉकडाउन का पालन करवाने के दौरान गैर-ईसाई अल्पसंख्यकों के साथ बर्बरता से पेश आई और नस्लभेदी रवैया अपनाया। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने सोशल डिस्टेंसिंग के प्रतिबंधों को 11 मई तक बढ़ा दिया है।

तुर्की: सरकारी आंकड़ों से ज्यादा मौत होने का संदेह

तुर्की में संक्रमण का आंकड़ा चीन से भी ज्यादा हो गया है। सोमवार तक यहां कुल 90 हजार केस मिल चुके थे। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, यहां मौतों का आंकड़ा 2,140 हो गया है। लेकिन, देश में इससे ज्यादा लोगों की जान गई है। पश्चिम एशिया में भी तुर्की संक्रमण के मामले में ईरान से आगे निकल गया है। ईरान में 83 हजार से ज्यादा केस हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, इस्तानबुल में होने वाली मौतों से पता चलता है कि तुर्की में कुल मौतें सरकार के आंकड़ों से कहीं ज्यादा हो सकती है। पिछले दो साल में हुए मौतों का सप्ताहिक औसत निकाला गया। इस आधार पर जितनी मौतों की संभावना थी, उससे 9 मार्च से 12 अप्रैल के बीच इस शहर में केवल 2,100 से ज्यादा जान गई है। सरकारी डेटा के अनुसार, यह आंकड़ा इस अवधि में पूरे तुर्की में हुए मौतों से ज्यादा है। हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि ये सभी मौतें कोरोना से ही हुई हैं। हालांकि, इससे इस बात का पता चलता है कि कोरोना संक्रमण फैलने के बाद मौतों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। इसके आधार पर शोधकर्ता अध्ययन कर रहे हैं।

 

श्रीलंका: 20 जून को संसदीय चुनाव होंगे
श्रीलंका में 25 अप्रैल को होने वाले संसदीय चुनावों को वायरस के खतरे के कारण स्थगित कर दिया गया है। अब यह 20 जून को होंगे। श्रीलंका चुनाव आयोग ने मंगलवार को ये जानकारी दी। सरकार के सूचना विभाग ने एक बयान जारी कर कहा कि चुनाव आयोग की तरफ से जारी इस फैसले के बाद चुनावों की नई तारीख घोषित को लेकर एक विशेष राजपत्र नोटिस जारी किया जाएगा। इससे पहले चुनाव आयोग के प्रमुख महिंदा देशप्रिया ने कहा था कि इस स्थित में 25 अप्रैल को चुनाव कराना संभव नहीं है, क्योंकि सरकारी कर्मचारी इन हालातों में काम नहीं कर सकते हैं। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने दो मार्च को संसद भंग कर दिया था। देश में अब तक संक्रमण के 302 केस मिले हैं, जबकि सात लोगों की मौत हो चुकी है।

इजराइल: 13,713 मामलों की पुष्टि
इजरायल में 59 नए मामले आने के बाद देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 13,713 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि देशभर में अब तक 177 मरीजों की मौत हो गई है। 4,049 मरीज अब तक ठीक भी हो गए हैं। इसके अलावा 149 मरीज इंटेंसिव केयर में भर्ती हैं। इनमें से 99 वेंटीलेटर मशीन पर हैं। इजराइल ने लॉकडाउन और अन्य उपायों में ढील देना शुरू कर दी है। हालांकि दो से अधिक लोग एक साथ अभी भी बाहर नहीं घूम सकेंगे। यहां लोग सख्त प्रतिबंधों को लेकर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

अफ्रीकी देशों का हाल

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के 3,300 मामले हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री ज्वेली मखीजे ने कहा कि यहां एक दिन में 142 मामले मिले हैं और चार मरीजों की मौत हुई है। यहां कुल मौतें 142 हो चुकी है। वहीं, अब तक 1,055 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रांतों में बड़े स्तर पर सामुदायिक स्क्रीनिंग और टेस्टिग की जा रही है।अब तक एक लाख 21 हजार 510 लोगों की जांच हो चुकी है। गौतेंग प्रांत एपिसेंटर बन गया है। यहां अब तक 1,170 केस मिल चुके हैं।

मिस्र में अब तक 3,333 केस मिल चुके हैं। अफ्रीका महादेश में सबसे ज्यादा मरीज यहीं हैं। यहा 250 लोगों की जान जा चुकी है। इजिप्ट टूडे के मुताबिक, देश में 24 घंटे में 189 केस मिले हैं, जबकि 11 मौतें हुई हैं। वहीं, मिस्र के वैज्ञानिक मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी पर विचार कर रहे हैं। पहले ही ठीक हुए मरीजों से प्लाज्मा सैम्पल्स ले लिए गए हैं।

जिम्बाब्वे ने कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन 14 दिन और बढ़ा दिया है। लॉकडाउन के कारण कई नागरिकों के आय खत्म हो गया है। देश एक दशक में सबसे बुरे आर्थिक संकट से जूझ रहा है। यहां भोजन और दवाओं की भारी कमी है। जरूरी चिकित्सा उपकरणों के न होने और बुनियादी ढांचे की कमी की वजह से स्वास्थ्य व्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है।

चीन: 11 नए केस मिले
चीन में सोमवार को 11 नए केस मिले हैं। नेशनल हेल्थ कमीशन ने कहा- रिपोर्ट किए गए इन मामलों में से चार में संक्रमण बाहर से आया है, जबकि अन्य सात घरेलू रूप से प्रसारित हुआ। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने हेल्थ कमीशन के हवाले से कहा कि छह मामले हेइलोंगजियांग और एक गुआंग्डोंग प्रांत में दर्ज किए गए। हालांकि, मेनलैंड चाइना में कोई मौत दर्ज नहीं हुई। कमीशन ने कहा कि चीन में सोमवार तक कुल 82,758 मामले दर्ज किए गए। इनमें से 1,003 का उपचार चल रहा है, जबकि 77,123 को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। वहीं अब तक 4,638 लोगों की मौत हुई है। स्पेशल एडमिनिस्ट्रेटिव रीजन (एसएआर) हॉन्गकॉन्ग में सोमवार तक चार मौतों और 1,025 मामलों की पुष्टि की गई।

दक्षिण कोरिया: 10 हजार 683 मामले

दक्षिण कोरिया में 24 घंटों के दौरान नौ नए मामले दर्ज किए गए। इसके बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 10 हजार 683 हो गई है। इस दौरान एक व्यक्ति की मौत के साथ मरने वालों की कुल संख्या 232 हो गई। देश में पिछले चार दिन से लगातार संक्रमितों का एक दिन का आंकड़ा 20 से कम रहा है। नए मामलों में पांच विदेशों से आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (केसीडीसी) ने मंगलवार को बताया कि संक्रमण से एक और व्यक्ति की मौत के साथ मृतकों की संख्या 237 हो गई जो कुल मामलों का 2.22% है। डाएगु और नॉर्थ ग्योंगसांग प्रांत में संक्रमितों की संख्या क्रमश: 6,835 और 1,361 हो गई है। लगभग 25 लाख की आबादी वाला डाएगु कोरोना के प्रसार का केंद्र बना हुआ है। डाएगु को सरकार ने ‘विशेष आपदा क्षेत्र’ घोषित किया है। सियोल और उसके निकटवर्ती ग्योंग्गी प्रांत में संक्रमितों की संख्या क्रमश: 626 और 658 पर आ गई है।

खाड़ी देश में रमजान के दौरान लॉकडाउन में ढील
खाड़ी देश लेबनन, इराक और सीरिया ने रमजान के दौरान कोरोना के खतरे के कारण लगाए गए लॉकडाउन में थोड़ी बहुत ढील देने का फैसल किया है। एफे न्यूज के अनुसार, इराक की उच्च स्वास्थ्य और राष्ट्रीय समिति ने 21 अप्रैल से 22 मई तक शाम सात बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू में ढील देने के निर्णय लिया है। कार्यवाहक प्रधानमंत्री एडेल अब्दुल महदी की अध्यक्षता वाली समिति ने प्रतिबंधों में ढील देने के सुझाव को मंजूरी दे दी। हालांकि, समिति ने कहा कि प्रतिबंध शुक्रवार और शनिवार को पूरी तरह से लागू रहेंगे। घर से बाहर जाने के दौरान लोगों को मास्क या फिर किसी अन्य वस्तु से मुंह ढंक कर निकलना होगा। साथ ही एक साथ तीन से ज्यादा लोग जमा नहीं हो सकेंगे।

Ashara Computer

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
सकरी सड़क होने से खेत में पलटी स्कूल बस, तीन बच्चे घायल, ग्रामीणों ने डेढ़ घंटे किया प्रदर्शन राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में सुरक्षाकर्मियों में बनी विवाद की स्थिति MP में लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई: आरआई 60 हजार रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, सीमांकन के लिए मांग... एमपी में लव जिहादः अनवर ने अनु बनकर युवती से की दोस्ती, फिर दुष्कर्म कर धर्म परिवर्तन के लिए धमकाया,... पोर्न स्टार को दिल दे बैठे शादीशुदा सांसद, पत्नी ने कही ये बात… हवालात में 5 कैदी , 2 सिपाही को शराब पार्टी मनाते पकड़ा , भेेजा जेेल ''जेएनयू की दिवारों पर ब्राहमण ओर वेश्य के लिए जातिसूचक नारेे लिखे'' घटना बर्दाश्त नहीं की जा सकती-... रेलवे स्टेशन सेे सटी 4 दुुकानों में अलसुबह आग लगी,,लाखो का हुआ नुकसान सांई प्रसाद चिटफंड कंपनी के फरार डायरेक्टर ,शशांक बी भापकर को पुुलिस ने पकड़ा अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैे,,कांग्रेस विधायक की कार का कांच तोड़कर उनका लेपटाप ले उडे़.