Mjaghar

दशहरे के दिन क्यों किया जाता है अपराजिता पूजन

Header Top

दशहरे का त्यौहार सम्पूर्ण भारत में उत्साह और धार्मिक निष्ठा के साथ मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्रीराम ने रावण का वध कर माता सीता को उसकी कैद से छुड़ाया था। श्रीराम-रावण युद्ध नवरात्रों में हुआ था। रावण की मृत्यु अष्टमी-नवमी के संधिकाल में हुई और उसका दाह संस्कार दशमी तिथि को हुआ, जिसका उत्सव दशमी के दिन मनाया, इसीलिए इस त्यौहार को विजयादशमी के नाम से भी जाना जाता है। सम्पूर्ण भारत में यह त्यौहार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को बड़े ही उत्साह और धार्मिक निष्ठा के साथ मनाया जाता है।
विजय दशमी के दिन ‘माता अपराजिता’ का पूजन किया जाता है। विजयदशमी का पर्व उत्तर भारत में आश्विन शुक्ल पक्ष के नवरात्र संपन्न होने के उपरांत मनाया जाता है। शास्त्रों में दशहरे का असली नाम विजयदशमी है, जिसे ‘अपराजिता पूजा’ भी कहते हैं। अपराजिता देवी सकल सिद्धियों की प्रदात्री साक्षात माता दुर्गा का ही अवतार हैं। भगवान श्री राम ने माता अपराजिता का पूजन करके ही राक्षस रावण से युद्ध करने के लिए विजय दशमी को प्रस्थान किया था। यात्रा के ऊपर माता अपराजिता का ही अधिकार होता है।
ज्योतिष के अनुसार माता अपराजिता के पूजन का समय अपराह्न अर्थात दोपहर के तत्काल बाद का है। अत: अपराह्न से संध्या काल तक कभी भी माता अपराजिता की पूजा कर यात्रा प्रारंभ की जा सकती है। यात्रा प्रारंभ करने के समय माता अपराजिता की यह स्तुति करनी चाहिए, जिससे यात्रा में कोई विघ्न उत्पन्न नहीं होता-
शृणुध्वं मुनय: सर्वे सर्वकामार्थसिद्धिदाम्।
असिद्धसाधिनीं देवीं वैष्णवीमपराजिताम्।।
नीलोत्पलदलश्यामां भुजङ्गाभरणोज्ज्वलाम्।
बालेन्दुमौलिसदृशीं नयनत्रितयान्विताम्।।
पीनोत्तुङ्गस्तनीं साध्वीं बद्धद्मासनां शिवाम्।
अजितां चिन्येद्देवीं वैष्णवीमपराजिताम्।।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा का ग्यारहवां दिन, कांग्रेस नेता की हार्ट अटैक से मौत राहुल गांधी की भारत जोड़ोे यात्रा का आगाज रविवार सेे राजस्थान में ,15 दिन में 7 जिले की 18 विधानसभा क... मुंबई में मलाड की बहुमंजिला इमारत में आग, बालकनी से कूदकर युवती ने बचाई जान पटरी से उछलकर खिड़की के रास्ते आई मौत, यात्री की गर्दन के आर पार हुआ सब्बल, कोच में मची चीख पुकार सीकर में गैंगस्टर राजू ठेहट को गोली मार दी,इलाके में दहशत,नेट बंद करने की तैयारी,,रोहित गोदारा ने ली... टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी की जनसभा से पहले बम विस्फोेट, तीन लोग की मौत भाग्य विधाता शनिदेव का मकर से कुंभ राशि में होे रहा प्रवेश ,, 5 राशियों में चलेगी शनि की साढेे़ साती... आज दिन शनिवार का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे मानव जीवन अनमोल है। इस जीवन को ईश्वर की शरण में लगाए - पंडित श्री शर्मा जी खिवनी अभ्यारण मैं अनुभूति कैंप के माध्यम से, बच्चो को जंगल से जोड़ने का प्रयास किया गया।विधायक शर्मा...