Mjaghar

अमृतसर रेल हादसाःपत्नी के बचाव में आए सिद्धू,बोले हादसे पर राजनीति न करें

Header Top

अमृतसरःपंजाब स्थित अमृतसर में रावण दहन के दौरान हुए रेल हादसे में 70 लोगों की मौत हो गई। वहीं इस मामले में पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिद्धू अपनी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू का बचाव करते आए। आपको बता दें यहां दशहरे का आयोजन हुआ था। वहां नवजोत कौर सिद्धू  मुख्यातिथि के तौर पर पहुंची। हादसे की सूचना मिलने पर वह वहां से चली गई  थी। उनकी पति सिद्धू ने उनका बचाव करते कहा कि हादसे पर राजनीति न करें।

अगर कोई यह सोचे कि यह जानबूझकर किया गया या उकसाने पर किया गया तो यह गलत है। उन्होंने कहा कि हादसा ट्रेन चालक की गलती के कारण हुआ। उसने हार्न नहीं दिया। इस कारण एक सैंकडे में ट्रेन ने मासूम लोगों को कुचल डाला। सिद्धू ने कहा कि जब दुर्घटना होती है तो किसी को बताकर नहीं होती।  लोग जो बात कर रहे हैं वह राजनीतिक बातें कर रहे हैं।  राजनीतिक रोटियां नहीं सेंकनी चाहिए।  सिद्धू ने कहा कि इस घटना पर आरोप-प्रत्यारोप का खेल नहीं खेला जा सकता। रावण दहन आजकल बटन से होता है जिससे आग तेजी से लगती है।  इस दौरान जब आतिशबाजी गलत दिशा में जाती है तो लोग पीछे हटते हैं। इसी दौरान वहां मौजूद लोगों को पता नहीं चला होगा।
कब कैसे हुआ हादसा
एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जिस वक्त ये तज रफ्तार ट्रेन घटनास्थल से गुजरी, बहुत सारे लोग ट्रैक पर बैठकर और खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे। कुछ मोबाइल फोन पर रावण दहन की वीडियो बना रहे थे। बताया जा रहा है कि जब रावण के पुतले को आग लगाई गई तो मंच से लोगों से पीछे हटने की अपील की गई। इस वजह से भी काफी लोग मैदान से पीछे हटकर रेलवे ट्रेक पर चले गए थे। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया जा रहा है। इसमें दिख रहा है कि लोग रावण दहन देख रहे हैं और मोबाइल से उसका वीडियो भी बना रहे हैं। तभी बाईं ओर से तेज रफ्तार ट्रेन अचानक आती है। वीडियो से पता लगता है कि वहां मौजूद लोगों को ट्रेन के आने की भनक तक नहीं लगी।

इस कार्यक्रम में मंच पर पंजाब के कैबिनेट मंत्री सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू भी मौजूद थीं। हादसे के वक्त घटनास्थल पर ही मौजूद रहे अन्य चश्मदीद अमरजीत ने बताया, रावण को आग लगाई गई, पटाखे बज रहे थे। इस बीच एकदम से ट्रेन आ गई। किसी को ट्रेन के आने की आवाज सुनाई नहीं दी। मैंने दो लड़कों का हाथ खींचकर उन्हें बचाया। मैंने देखा कि 25-30 लोगों की लाशें बिछ गई हैं। मैंने इन लाशों को उठाकर दूसरी जगह पहुंचाया। मेरे हाथ पूरे खून से भर गए, मैं अभी-अभी इन्हें धोकर आया हूं। उनमें कई मेरे पहचान के लोग थे।   अमित कुमार का घर घटनास्थल के पास ही है। वह घटना के वक्त अपने घर की छत पर मौजूद थे। उन्होंने बताया, ट्रेन बहुत स्पीड में आई, ट्रेन ने कोई हॉर्न नहीं दिया। उस ट्रेन ने वहां खड़े सभी लोगों को कुचल दिया। स्टेज से कहा गया था कि लोग पटरी से दूर होकर खड़े रहें। ये आयोजन हर साल होता है

Ashara Computer

बिना परमिशन के करवाया जा रहा था दशहरा कार्यक्रम
धोबी घाट में दशहरा कार्यक्रम किसी भी सरकारी विभाग की अनुमति के बिना करवाया जा रहा था बल्कि इस जगह पर हर वर्ष हजारों की संख्या में लोग रावण दहन देखने के लिए आते हैं और हर बार प्रबंधक पुलिस फोर्स के साथ अपने वालंटियर लगाकर लोगों की सुरक्षा के लिए मुस्तैद होते थे लेकिन इस बार बिना वालंटियर एवं चंद पुलिस कर्मचारियों के सहारे हजारों लोगों की सुरक्षा थी। जब रावण दहन हुआ तो एकाएक रेलवे ट्रेक पर दो गाडिय़ों की क्रॉसिंग थी। रावण दहन के समय पटाखों की गूंज में लोग अपने कान बंद किए ट्रेन आने पर रेलवे ट्रैक पर लोगों की भगदड़ मच गई, जिसमें सैंकड़ों लोग इन दोनों ट्रेनों की चपेट में आ गए।

विभाग व रेलवे से नहीं ली कोई परमिशन
नगर निगम अस्टेट अधिकारी सुशांत भाटिया ने बताया कि विभाग से किसी प्रकार की कार्यक्रम को लेकर अनुमति नहीं ली गई है। अगर कार्यक्रम को लेकर प्रबंधकों द्वारा अनुमति ली भी जाती तो भी अनुमति नहीं मिलनी थी, बाकी घटना बहुत दुखदायी है। इस संबंध रेलवे के स्टेशन डायरैक्टर अमृत सिंह ने बताया कि उक्त स्थान पर रेलवे लाइनों के पास दशहरा मनाने की न तो कोई अनुमति रेलवे ने प्रदान की है और न ही परमिशन लेने के लिए किसी ने रेलवे को लिखित रूप से सूचित किया था।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
खातेगांव शासकीय महाविद्यालय के सामने प्राचार्य का पुतला फूंका, कालेज में दारू पीना बंद करो-बंद करो .... सामर्थ्य प्रदर्शन कर दिव्यांग बच्चों ने जीते पुरस्कार धूमधाम से निकली सूरजगढ निशान यात्रा स्वास्थ्य सेवाओं में प्रदेश को देश में नंबर वन बनाना है- स्वास्थ्य मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी हरदा भाजयुमो के जिलाध्यक्ष का आभासी इस्तीफ़ा ! फिर आभासी खंडन ... BREAKING NEWS HARDA : बहन के साथ आपत्तिजनक हालत में देख युवक ने दराती से हमला कर उतारा मौत के घाट, प... संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री कुर्रे ने मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया harda : 2021 बैच के आइएएस अधिकारियों को जिला प्रशासन के नवाचारों के बारे में बताया MP NEWS : 2 महिला और 2 पुरुष संदिग्ध हालत में मिले, लंबे समय से चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा sirali news : डॉ. भीमराव अंबेडकर जी की प्रतिमा स्थापित करने की मांग को लेकर CM के नाम तहसीलदार व नप ...