ब्रेकिंग
जिले में प्रभारी मंत्री ने किया ध्वजाराेहण, मैदान में घुसे मवेशी, दाे जवान हुए घायल गणतंत्र दिवस समाराेह में शामिल हाेने जा रहे थे न्यायालय के कर्मचारी, डंपर ने मारी टक्कर, एक की माैत ... मणिपुर की शॉल, उत्तराखंड की टोपी, फिर चर्चा में PM मोदी की वेशभूषा विस्फोटक की सूचना पर मौके पर पहुंची बीडीएस टीम, यूपी के मुख्यमंत्री के नाम धमकी भरा पत्र मिला तहसील कार्यालय हंडिया में तहसीलदार ने किया ध्वजारोहण उग्र हुए छात्रों का हंगामा, पथराव के बाद ट्रेन की बोगी में लगाई आग कांग्रेस ने हर्षोल्लास से 73 वा गणतंत्र दिवस मनाया कलेक्ट्रेट, जिला पंचायत, जिला न्यायालय व अन्य कार्यालयों में हुआ ध्वजारोहण HARDA NEWS: हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया गणतंत्र दिवस कलेक्टर श्री गुप्ता ने किया ध्वजारोहण आज दिन बुधवार का राशिफ़ल जानिये आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे

महिला के सबरीमला पहाड़ी की चढ़ाई करने की अफवाह के बाद विरोध शुरू

सबरीमला: तमिलनाडु की 50 वर्ष से कम उम्र की एक महिला के सबरीमला पहाड़ी चढऩे की अफवाह के बाद सन्नीधानम के पास भगवान अयप्पा के श्रद्धालुओं ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। मंदिर में रजस्वला आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ विरोध करने के लिए ‘वलिया नंदपंढाल’ में श्रद्धालुओं के बड़ी संख्या में एकत्रित होने के बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण हो गई जहां धारा 144 लागू है। हालांकि यह तनाव तब कम हुआ जब अपने परिवार के साथ आई महिला प्रदर्शनकारियों को यह समझाने में कामयाब रही कि उसकी उम्र 50 साल से ज्यादा है जिसके बाद वह दर्शन के लिए जा सकी।  इरुमुदिकेट्टु ले जा रही महिला ने मंदिर पहुंच कर दर्शन करने के लिए कड़े सुरक्षा पहरे के बीच 18 सीढिय़ां चढ़ी।
इस बीच पथनमथिट्टा के जिला अधिकारी पी बी नूह ने कहा कि सन्नीधानम में कोई तनाव नहीं था। उन्होंने कहा, एक महिला दर्शन के लिए आई। कुछ समाचार चैनलों ने उनका पीछा किया…. फिर भीड़ जमा हो गई…मामला बस इतना सा ही था।’’  कलेक्टर ने उन खबरों को अफवाह’’ बताकर खारिज किया कि कुछ युवतियां मंदिर तक पहुंचने के लिए पहाड़ी चढऩे की योजना बना रही हैं।  नूह ने कहा, सोशल मीडिया के जरिए कुछ अफवाहें फैलाई गईं। हमने उनकी पुष्टि का प्रयास किया….अब तक इस संबंध में किसी भी खबर की पुष्टि नहीं हुई है।’’
सबरीमला मंदिर परिसर में शुक्रवार को नाटकीय घटनाक्रम और तनावपूर्ण माहौल देखने को मिला था जब दो महिलाएं भारी पुलिस पहरे के साथ पहाड़ी के शीर्ष पर पहुंच गई थीं लेकिन श्रद्धालुओं के व्यापक विरोध के बाद गर्भगृह पहुंचने से पहले ही उन्हें लौटना पड़ा। केरल में भगवान अयप्पा के श्रद्धालु उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद से सबरीमला मंदिर में रजस्वला आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश का विरोध कर रहे हैं। 17 अक्टूबर को पांच दिवसीय मासिक पूजा के लिए मंदिर को खोले जाने के बाद से उनका विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!