banner add
banner ad 11

MP में कमजोर परफॉरमेंस वाले विधायकों को भाजपा ने दिया टिकट कटने का संकेत

Header Top

भोपाल। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के टारगेट ‘अब की बार 200 पार” को पाने के लिए पार्टी पूरी ताकत लगा रही है। पार्टी ने सर्वे में कमजोर परफॉरमेंस वाले विधायकों को टिकट बदलने के संकेत दे दिए हैं।

पिछले ड़ेढ़ साल के दौरान लगभग 67 विधायकों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष ने वन-टू-वन बातचीत की थी। उन सभी को पार्टी के प्रत्याशी केपक्ष में काम करने कहा गया है। सर्वे में बताया गया था कि 67 से अधिक विधायक ऐसे हैं जो अब चुनाव जीतने की स्थिति में नहीं हैं।

कई विधायकों के बारे में सर्वे रिपोर्ट में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने, मुलाकात नहीं करने सहित कई तरह की शिकायतें भी प्राप्त हुई थीं। सत्ता और संगठन पिछले डेढ़ साल से इन्हें कामकाज सुधारने की सलाह दे रहा था। बार-बार उनसे कहा गया था कि कार्यकर्ता नाराज रहेंगे तो आप किसके भरोसे चुनाव लड़ोगे। इसके बावजूद विधायक अपना परफॉरमेंस नहीं सुधार पाए।

Shreegrah

पार्टी सूत्रों के मुताबिक जिन विधायकों के टिकट काटे जा रहे हैं, उन्हें उनके विधानसभा क्षेत्र की सर्वे रिपोर्ट से काफी पहले अवगत करा दिया गया था। रिपोर्ट में एक-एक वर्ग से लेकर वार्ड-मोहल्ले और गांव में विधायक के कामकाज और कार्यकर्ताओं के साथ उनके समन्वय सहित आम जनता की नजर में उनकी छवि का बिंदुवार उल्लेख किया गया है।

गौरतलब है कि इस रिपोर्ट के आधार पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे के वक्त विधायकों के परफारमेंस पर विस्तार से चर्चा हुई थी। इसमें बताया गया था कि लगभग 70 विधायक ऐसे हैं जो अब चुनाव जीतने की स्थिति में नहीं हैं।

पार्टी ने वक्त भी दिया

कमजोर परफारमेंस वले इन विधायकों को लेकर पार्टी की कवायद काफी पहले से चल रही है। हर विधायक के साथ बातचीत में उनके विधानसभा क्षेत्र की सर्वे रिपोर्ट भी साथ रखी गई थी। विधायकों को बाकायदा बताया गया कि उनके इलाके में सरकार की ओर से कितने विकास कार्य करवाए गए हैं।

उनके इलाके में कांग्रेस की स्थिति क्या है। दलित वोट बैंक विधायक से कितना नाराज है। अल्पसंख्यक वोटों में विधायक को लेकर किस तरह की नाराजी है। इस तरह हर एक पहलू से विधायकों को अवगत कराया गया था। उन्हें समय भी दिया गया था कि वे अपना परफारमेंस सुधार सकते हैं।

कार्यकर्ताओं से समन्वय भी नहीं बना पाए 

विधायकों से कहा था कि कार्यकताओं के साथ समन्वय बढ़ाएं। सर्वे रिपोर्ट में कई विधायकों के बारे में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने, मुलाकात नहीं करने सहित कई तरह की शिकायतें भी प्राप्त हुई थीं। इसके बाद उन्हें सुधार करने का मौका भी दिया, फिर भी कोई खास बदलाव नहीं आया।

जीतने वाले को ही टिकट

जनप्रतिनिधियों के कार्यों का समय-समय पर आकलन होता रहता है। सभी का परफॉरमेंस पार्टी और मुख्यमंत्री के समक्ष स्पष्ट है। पार्टी की राय भी स्पष्ट है कि सिर्फ जीतने वाले प्रत्याशी को ही टिकट दिया जाएगा । 

– डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रदेश प्रभारी भाजपा

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
आज दिन सोमवार का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे आयुष मेले में 678 रोगीयों का उपचार कर निःशुल्क दवाई वितरित की हरदा: शिवरात्रि तथा फाग उत्सव की तैयारियों को लेकर हुई चर्चा । विकास यात्रा में कृषि मंत्री श्री पटेल ने हितग्राहियों को सौगाते वितरित की मुख्यमंत्री कन्या निकाह योजना के तहत 70 कन्याओं का निकाह हुआ कृषि मंत्री श्री पटेल ने नवदम्पत्तियों ... कृषि मंत्री श्री पटेल ने विकास यात्रा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया, विकास कार्यों का किया लोकार्पण जाति जनगणना के समर्थन में उतरी परिवर्तन समाज पार्टी कहा असली तस्वीर सामने लाना बेहद जरूरी: दिनेश राठ... कांग्रेस ने मनाई संत शिरोमणी गुरु रविदास की जयंती आज दिन रविवार का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे मानहानि के केस में दिग्विजय सिंह को मिली जमानत, वीडी शर्मा ने दर्ज कराया था मामला