Rajhansh

लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मलाला को सम्मानित करेगा हार्वर्ड

Header Top

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला युसूफजई को लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए हार्वर्ड विश्वविद्यालय सम्मानित करेगा। हार्वर्ड के केनेडी स्कूल ने बताया कि छह दिसंबर को आयोजित होने वाले एक समारोह में युसूफजई को 2018 का ग्लेट्स्मैन पुरस्कार दिया जाएगा। युसूफजई को 2014 में सबसे कम उम्र में नोबेल शांति पुरस्कार पाने का गौरव मिला। उससे पहले लड़कियों की शिक्षा की वकालत करने के कारण पाकिस्तान में तालिबान ने उनपर हमला किया था, जिसमें वह बेहद गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। हमले के बाद से ही वह और उनका परिवार इंग्लैंड में रह रहा है।
फिलहाल 20 वर्षीय युसूफजई इंग्लैंड में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की छात्रा हैं। ग्लेट्स्मैन अवार्ड के तहत दुनिया भर में लोगों के जीवन स्तर में सुधार के लिए काम करने वाले को 1,25,000 डॉलर की राशि पुरस्कार स्वरूप दी जाती है। गौरतलब है कि नौ अक्टूबर का दिन इतिहास में 15 साल की एक किशोरी पर तालिबान के बेरहम आतंवादियों के घातक हमले का साक्षी है। पाकिस्तान में लड़कियों की शिक्षा की हिमायत करने वाली मलाला युसुफजई की बीबीसी के जरिए गुल मकई के नाम से दुनियाभर में गूंजती आवाज को दबाने के लिए तालिबान ने स्कूल से घर लौट रही मलाला के सिर में गोली मारकर उसकी जान लेने की कोशिश की।हमला घातक था, लेकिन मलाला का हौंसला भी कम न था। ब्रिटेन में लंबे इलाज के बाद वह ठीक हुईं और एक बार फिर अपने अभियान में जुट गईं। सबसे कम उम्र में शांति का नोबेल जीतने वाली मलाला आतंकवादियों के बच्चों को भी शिक्षा देने की पक्षधर है ताकि वह शिक्षा और शांति का महत्व समझें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
ग्राम सिरकम्बा में क्लस्टर स्तरीय क्रेडिट कैम्प सम्पन्न सहकारिता मंत्री श्री भदोरिया ने कलेक्टर व एसपी से नवाचारों की जानकारी ली harda : पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की जनसभा को लेकर जिला कांग्रेस कार्यालय में बैठक हुई संपन्न दोबारा सेक्स करने से पत्नी ने किया मना तो पति ने उतारा मौत के घाट; थाने में दर्ज कराई लापता होने की ... प्यार का प्रपोजल छात्रा ने ठुकराया, तो एक तरफा प्यार में पागल प्रेमी ने सरेआम मारा चाकू, हमले की वार... एक दिवसीय प्रशिक्षण एवं निशुल्क मोतियाबिंद शिविर का हुआ आयोजन दिल दहलाने वाली घटना : पटरी पार करते वक्त ट्रेन आ गई, 3 साल के मासूम को बचाने मां ने फेंका, दोनों की... तन्मय को बचाना है: बैतूल में 66 घंटे से जिंदगी बचाने की जंग जारी, 3 फीट की दूरी बाकी, सुरंग से कभी भ... भीषण सड़क हादसा : ट्रक और लोडर की जबरदस्त टक्कर, 3 की दर्दनाक मौत harda big breaking : रेड फ्लावर स्कूल में छात्र हुआ बेहोश, छात्र की मौत !