banner add
banner ad 11

पिछले तीन सालों में 400 जवानों ने देश की सुरक्षा के लिए दी कुर्बानी

Header Top

 भारत पाक सीमा पर गोलीबारी, आतंकवादी और उग्रवादी गतिविधियों के कारण पिछले तीन सालों में सुरक्षा बलों के करीब 400 जवानों ने जान गंवाई है। इनमें सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के सबसे अधिक जवान शहीद हुये हैं। इस बल ने 2015 से 2017 के बीच 167 जवानों को खोया और इनमें से अधिकतर अति संवेदनशील सीमा पर पहरेदारी करते समय शहीद हुये।

गृह मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि बीते तीन सालों से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 103 जवानों ने कुर्बानी दी। इनमें से अधिकांश नक्सली गतिविधियों और जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते हुये शहीद हुये। बीएसएफ ने 2015 में 62, वर्ष 2016 में 58 और 2017 में 47, सीआरपीएफ ने 2015 में नौ, वर्ष 2016 में 42 और वर्ष 2017 में 52 जवानों को खो दिया।  अधिकारी ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के 48 कर्मियों की मौत हो गई थी, जिनमें से 2015 में 16, 2016 में 15 और 2017 में 17 जवान शहीद हुये थे।

एसएसबी भारत-भूटान और भारत-नेपाल सीमा की रक्षा करता है। यह बल आंतरिक सुरक्षा कर्तव्यों के निर्वहन के लिए भी तैनात किया जाता है। 2015 और 2017 के बीच भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), जो भारत-चीन सीमा पर तैनात है, से जुड़े कुल 40 कर्मियों की मौत हो गई थी। इनमें से 15 जवान 2015 में, जबकि 2016 में 10 और 2017 में 15 जवानों ने सर्वोच्च शहादत दी। भारत-म्यामां सीमा की रक्षा करने और पूर्वोत्तर में आतंकवादियों से लोहा लेने वाले असम राइफल्स के कुल 35 जवान इन तीन सालों में शहीद हुये। इस बल के 2015 में 18, 2016 में नौ और 2017 में आठ जवानों ने शहादत दी।

Shreegrah

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने पिछले तीन वर्षों में कार्रवाई में दो जवानों को खो दिया है। इनमें से एक 2016 में और 2017 में एक जवान मारा गया। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि 2015 में सीआईएसएफ का कोई जवान शहीद नहीं हुआ। सीआईएसएफ विमानपत्तनों, परमाणु प्रतिष्ठानों, मेट्रो रेल सेवाओं और अन्य संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा करती है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
विवादित बयान से संविधान का अपमान ? गेस्ट हाउस में चल रहा था देह व्यापार, आपत्तिजनक हालत में 3 जोड़े गिरफ्तार, संचालक फरार राजगढ़ जिले में दो दिवस में विकास यात्राओं में 710 लाख के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं 641 लाख के विक... लोक सेवा गारंटी अंतर्गत सेवाओं को समय-सीमा में शिकायतों का निराकरण नहीं करने पर चार अधिकारियों पर लग... संत रविदास जयंती के उपलक्ष में हुआ कार्यक्रम का भव्य आयोजन, सिराली के मुख्य मार्गो से निकली शोभायात्... मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हरदा ने दस्तक अभियान का किया शुभारंभ harda : आत्माराम की खुशी का आज ठिकाना न था, विकास यात्रा में पक्के मकान में परिवार सहित किया गृह प्र... टिमरनी विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्रों में पहुँची ‘‘विकास यात्रा’’ harda : रमेश का सपना हुआ साकार विकास यात्रा में मिली पक्के मकान की सौगात मुख्यमंत्री चौहान ने सिंगल क्लिक के माध्यम लाड़ली लक्ष्मियों के खाते मे छात्रवृत्ति की राशि ट्रांसफर ...