banner add
banner ad 11

मिताली को बाहर रखने पर हरमनप्रीत ने कहा- कोई खेद नहीं, टीम के हित में फैसला था

Header Top

नार्थ साउंड (एंटीगा): मिताली राज जैसी अनुभवी खिलाड़ी को अहम मुकाबले से बाहर रखने का फैसले के कारण भले ही भारत को आईसीसी महिला विश्व टी20 सेमीफाइनल में इंग्लैंड से शर्मनाक हार झेलनी पड़ी लेकिन कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि उन्हें इस फैसले पर कोई खेद नहीं क्योंकि इसे टीम के हितों को ध्यान में रखकर लिया गया था। भारतीय बल्लेबाज बुरी तरह नाकाम रही और पूरी टीम 112 रन पर सिमट गई। उसके आखिरी आठ विकेट 24 रन के अंदर गिरे।

इंग्लैंड से शर्मनाक हार झेलने पर मायूस मिताली का चेहरा पूरी कहानी कह रहा था 
डगआउट में बैठी मायूस मिताली का चेहरा पूरी कहानी कह रहा था। टाॅस के समय हरमनप्रीत ने कहा था, ‘यह मिताली के चयन की बात नहीं है, यह विजयी संयोजन को बनाए रखना है।’ इस फैसले पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन और पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने कमेंट्री करते हुए सवाल उठाए लेकिन हरमनप्रीत ने अपने निर्णय का बचाव किया।

हमने जो भी फैसला किया वह टीम के हित में किया- हरमनप्रीत
हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा, ‘हमने जो भी फैसला किया वह टीम के हित में किया। कई बार यह सही रहता है और कई बार नहीं। इसका खेद नहीं है। हमारी टीम ने पूरे टूर्नामेंट में जिस तरह से बल्लेबाजी की उस पर मुझे गर्व है।’ मिताली के स्ट्राइक रेट पर हमेशा सवाल उठाए जाते रहे हैं लेकिन तानिया भाटिया भी तेजी से रन नहीं बना पा रही थी और वेदा कृष्णमूर्ति अच्छी फार्म में नहीं चल रही थी और ऐसे में एक अनुभवी बल्लेबाज को बाहर रखना भारत पर भारी पड़ गया। हरमनप्रीत ने कहा, ‘यह हमारे लिये सीख है क्योंकि हमारी टीम युवा है। कई बार आपको विकेट के हिसाब से अपना खेल बदलना पड़ता है।

Shreegrah

हरमन बोली- दबाव में खेलना सीख जाएगे हम
इंग्लैंड ने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की तथा विकेट को अच्छी तरह से समझा। लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं था और हमारी गेंदबाजों ने भी अच्छी गेंदबाजी की। हम 18वें ओवर तक मैच खींचकर ले गई।’ उन्होंने स्वीकार किया कि बड़े मैचों में मानसिक मजबूती एक मसला है और उनकी युवा टीम को इसमें खुद को बेहतर करना होगा। हरमनप्रीत ने कहा, ‘हमारी टीम युवा है और हमें मानसिक मजबूती पर काम करने की जरूरत है। अगर हम दबाव में खेलना सीख जाएं तो हमें पता चल जाएगा कि ऐसे मैचों में कैसे खेलना है।’
इंग्लैंड की कप्तान हीथर नाइट ने कहा कि वह पावरप्ले के ओवरों में थोड़ा चतित थी जब स्मृति मंदाना आक्रामक बल्लेबाजी कर रही थी लेकिन उन्होंने अपनी स्पिनरों क्रिस्टी गोर्डन और सोफी एक्लेस्टोन की तारीफ की जिन्होंने टीम को शानदार वापसी दिलाई। उन्होंने कहा, ‘पावरप्ले में मैच थोड़ा हमारे हाथ से निकलता दिख रहा था लेकिन स्पिनरों ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की और हमें वापसी दिलाई। क्रिस्टी ने अपने पहले दौर में ही बेजोड़ प्रदर्शन किया। सोफी भी युवा स्पिनर है और पिछले एक साल में उन्होंने दिखाया है कि वह एक अच्छी स्पिनर हैं।’

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
विवादित बयान से संविधान का अपमान ? गेस्ट हाउस में चल रहा था देह व्यापार, आपत्तिजनक हालत में 3 जोड़े गिरफ्तार, संचालक फरार राजगढ़ जिले में दो दिवस में विकास यात्राओं में 710 लाख के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं 641 लाख के विक... लोक सेवा गारंटी अंतर्गत सेवाओं को समय-सीमा में शिकायतों का निराकरण नहीं करने पर चार अधिकारियों पर लग... संत रविदास जयंती के उपलक्ष में हुआ कार्यक्रम का भव्य आयोजन, सिराली के मुख्य मार्गो से निकली शोभायात्... मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हरदा ने दस्तक अभियान का किया शुभारंभ harda : आत्माराम की खुशी का आज ठिकाना न था, विकास यात्रा में पक्के मकान में परिवार सहित किया गृह प्र... टिमरनी विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्रों में पहुँची ‘‘विकास यात्रा’’ harda : रमेश का सपना हुआ साकार विकास यात्रा में मिली पक्के मकान की सौगात मुख्यमंत्री चौहान ने सिंगल क्लिक के माध्यम लाड़ली लक्ष्मियों के खाते मे छात्रवृत्ति की राशि ट्रांसफर ...