अमरेंद्र पर बयान दाग मुश्किल में फंसे सिद्धू,बिट्टू ने किया बचाव तो अकालियों ने मांगा इस्तीफा

Header Top

चंडीगढ़(हरिश्चंद्र): अपने बयानों को लेकर अक्सर विरोधियों के निशाने पर रहे कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अब तेलंगाना में दिए बयान से पार्टी में अलग-थलग पड़ गए हैं। वहां चुनाव प्रचार के लिए गए सिद्धू ने मीडिया के सवाल पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र के बारे में कहा था कि वह तो आर्मी में कैप्टन हैं जबकि उनके कैप्टन तो राहुल गांधी हैं। दरअसल, उनसे पूछा था कि कैप्टन अमरेंद्र के मना करने के बाद भी पाकिस्तान क्यों गए थे? सूत्रों की मानें तो अमरेंद्र संबंधी ऐसी टिप्पणी के बाद हाईकमान के तेवर कड़े हुए और सिद्धू ने हाईकमान के कहने पर ही ट्वीट कर सफाई देने का प्रयास किया है।

बयान के तुरंत बाद पंजाब के कई कांग्रेसी नेताओं की तीखी प्रतिक्रिया के बाद सिद्धू ने पैंतरा बदला। जाहिर है सिद्धू समझ गए थे कि पंजाब में कैप्टन संबंधी ऐसा बयान देना उनके लिए राजनीतिक तौर पर नुक्सानदेह हो सकता है। हालांकि वक्त की नजाकत को भांपते हुए ट्वीट कर बयान को वापस लेने का प्रयास भी किया लेकिन तब तक तीर कमान से निकल चुका था। इस बीच कैप्टन अमरेंद्र ने सिद्धू के बयान पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है। पर कई कैबिनेट मंत्री मुद्दे पर साथी मंत्री के खिलाफ खड़े हो गए हैं। सिद्धू के बयान पर ऐसा विरोध कई और मंत्री, सांसद और वरिष्ठ पार्टी नेता भी जता रहे हैं।

स्पष्टीकरण देंगे सिद्धू : रवनीत बिट्टू
एक तरफ जहां कैबिनेट मंत्री व अन्य कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बयान पर उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं, वहीं लुधियाना के कांग्रेसी सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कांग्रेसी नेताओं व मंत्रियों को इस मामले को तूल न देने की सलाह देते हुए कहा कि सिद्धू ने जो टिप्पणियां कीहैं । उस बारे में वह स्पष्टीकरण जरूर देंगे। उन्होंने कहा कि कई बार मीडिया बयान को काटकर सनसनीखेज बना देता है। कैप्टन अमरेन्द्र सिंह पंजाब कांग्रेस व पंजाब के नेता हैं, सिद्धू भी इससे मुकर नहीं सकते।

Ashara Computer

सिद्धू को अपने सी.एम. पर विश्वास नहीं तो पार्टी छोड़ दें इस्तीफा : मजीठिया 
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को अपना कैप्टन न मानने वाले बयान पर कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को अकाली विधायक बिक्रम सिंह मजीठिया ने इस्तीफा देने की सलाह दी है।  इस दौरान मजीठिया समेत कई अन्य सीनियर अकाली नेताओं ने भी सिद्धू को इस्तीफा देने की सलाह दी। मजीठिया ने कहा कि जब सिद्धू ने ही कह दिया कि उनका कप्तान कैप्टन नहीं है और उनको अपने सी.एम. पर भरोसा नहीं है तो मैं समझता हूं कि यदि सिद्धू को अपने सी.एम. पर विश्वास नहीं है तो उनको पार्टी छोड़ देनी चाहिए और इस्तीफा के देना चाहिए।

सिद्धू ने पार्टी का अनुशासन तोड़ा : जागीर कौर
सीनियर अकाली नेता जागीर कौर ने नवजोत सिद्धू के उक्त बयान पर कहा कि यह उनका आपसी मसला है परंतु मैं समझती हूं कि हमें हमेशा अनुशासन में रहना चाहिए। जो नेता पार्टी का अनुशासन भंग करे, जो अपनी पार्टी के प्रमुख को अपना लीडर न मानता हो वह पार्टी का अनुशासन भंग करता है। सिद्धू ने भी अपनी पार्टी का अनुशासन तोड़ा है जिनके कारण पार्टी के बाकी नेता भी दुखी हैं।

काफी देर से सिद्धू के मन में थी अमरेन्द्र को कैप्टन नहीं मानने की बात : टीनू 
अकाली विधायक पवन कुमार टीनू ने कहा कि नवजोत सिद्धू पहले ही डिप्टी सी.एम. बनना चाहते थे और तब उस समय इनके ग्रुप को अमरेन्द्र सिंह ने तांगा पार्टी कहा था और उन्होंने यह भी कहा था कि कौन है सिद्धू मैं तो उसे जानता भी नहीं। टीनू ने कहा कि लोग रूङ्क्षलग पार्टी में आकर धड़ेबंदी व लालच में आकर पंजाब का नुक्सान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धू कहते हैं कि कैप्टन अमरेन्द्र सिंह उनका कैप्टन नहीं है परन्तु यह बात सिद्धू के मन में काफी देर से थी और इसके साथ पंजाब को नुक्सान को होगा।

सिद्धू किसी पर भी टिप्पणी कर देते हैं: बलदेव सिंह
अकाली विधायक बलदेव सिंह फिल्लौर ने कांग्रेसी नेताओं द्वारा नवजोत सिद्धू के इस्तीफे की बात पर कहा कि सिद्धू को इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सिद्धू बिना तथ्यों व आधार के किसी पर भी टिप्पणी व दोषारोपण कर देते हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
कृषि मंत्री श्री पटेल ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण हरदा बिग ब्रेकिंग : दुःखद सड़क दुर्घटना में पति-पत्नी सहित दो मासूम बच्चों की मौत, चाचा गंभीर घायल, क... तूफानी रफ्तार : 25 फीट दूरी तक उछलकर नाले में पलटी कार, एयर बैग खुलने से बची युवक की जान सड़क बनाने खोदी मुरम, गड्ढे में भरा वर्षा का पानी, तीन बच्चियों की डूबने से मौत BREAKING NEWS : ट्रक और फोर व्हीलर वाहन भीषण टक्कर, हरदा के एक ही परिवार के 4 लोगों की मौत, 1 गंभीर अशोक गहलोत ने बताई बागी विधायकों की नाराजगी की वजह, पायलट गुट पर साधा निशाना उजड़ गए 3 परिवार, बच्चों के शव देख कांपी रूह, अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़ राजनीतिक सरंक्षण में हो रहा अवैध उत्खनन,कार्यवाही में अवैध खदान से 11 ट्रक किए जब्त अवैध उत्खनन पर कार्यवाही में 746 एफआईआर,456 किए गिरफ्तार ,साढे़ 11 करोड़ जुर्माना वसूला,कार्यवाही से ... हरदा -  8 दिसंबर 1933 में हरदा आये थे गांधीजी । उन्हें 1633 रुपये 15 आने भेंट किये हरदा वासियो ने !