कुपोषण मिटाने के नाम पर ठिकाने लगाई 1090 क्विंटल घटिया मूंग

Header Top

श्योपुर। कुपोषित परिवारों को 10 रुपए प्रति किलो मूंग दाल देने की योजना घटिया क्वालिटी की मूंग को खपाने के लिए लागू की गई थी। यह हम नहीं कह रहे बल्कि सरकारी रिकॉर्ड बता रहे हैं। सरकार ने जिले में समर्थन मूल्य पर खरीदी गई उस मूंग दाल को कुपोषित परिवारों में बांटा है, जिसे सर्वेयरों ने घटिया क्वालिटी की बताकर रिजेक्ट कर दिया था

जैसे ही इस घटिया मूंग का स्टॉक गोदामों में खत्म हुआ, सरकार ने चुपचाप इस योजना पर भी ताला लगा दिया। दो महीने से आदिवासी परिवारों को 10 रुपए प्रति किलो मूंग नहीं दी जा रही। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर 2017 को कराहल में ‘कुपोषण के विरुद्ध जंग’ योजना का ऐलान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था। इस योजना के तहत कुपोषण प्रभावित परिवारों को 1000 रुपए प्रति माह और 10 रुपए प्रति किलो में मूंग देना शुरू हुआ।

जनवरी 2018 से जिले के 21 हजार सहरिया परिवारों को हर महीने लगभग 01 लाख 20 हजार किलो मूंग 10 रुपए किलो के भाव से पीडीएस दुकानों से दी गई। 10 महीने यानी अक्टूबर तक मूंग का वितरण चला, लेकिन नवंबर महीने से मूंग पर रोक लग गई। इसका कारण यह है कि 2017 में समर्थन मूल्य पर खरीदी गई मूंग में से 1090 क्विंटल मूंग रिजेक्ट हो गई थी।

Ashara Computer

यह मूंग मप्र विपणन संघ के गोदामों में रखी हुई थी, जिसे सरकार खपा नहीं पा रही है। यही मूंग 10 रुपए किलो में कुपोषण के नाम पर बांटी गई।

घटिया बताकर रोका था किसानों का भुगतान

2017 में समर्थन मूल्य पर जितनी मूंग खरीदी गई थी उसमें से 122 किसानों की 1090 क्विंटल मूंग को घटिया क्वालिटी की बताकर इन किसानों का भुगतान रोक दिया गया। 122 किसानों को 66 लाख का भुगतान कराने के मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ा और विधायक दुर्गालाल विजय इसे लेकर मुख्यमंत्री से मिले, तो जिला महामंत्री रामलखन नापाखेड़ली किसानों का दल लेकर सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग व मप्र विपणन संघ के सीएमडी ज्ञानेश्वर बी पाटील से मिले।

राजनीतिक हस्तक्षेप के बाद पांच बार इस मूंग की जांच कराकर उसे भुगतान लायक बताया और फिर मप्र विपणन संघ ने 11 महीने बाद किसानों को भुगतान किया।

दो महीने से आपूर्ति बंद अक्टूबर के बाद से 10 रुपए किलो की मूंग दाल का स्टॉक पीडीएस दुकानों पर नहीं आया है। दो महीने से हमने सहरिया परिवारों को मूंग बांटना बंद कर दिया है।

– आरएस चौहान, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी

सहरिया परिवारों को बांटी 1090 क्विंटल मूंग 2017 में रिजेक्ट हुई थी जिसे जांच के बाद किसानों को भुगतान कर दिया। इस मूंग को हमने आपूर्ति निगम को दिया, जहां से सहरिया परिवारों को बांटी गई। अब गोदाम में केवल 5 क्विंटल मूंग बची है। इसलिए स्टॉक नहीं दिया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!
ब्रेकिंग
HARDA NEWS : रन्हाई कला में अस्पृश्यता निवारण शिविर संपन्न कृषि मंत्री पटेल ने जिला अस्पताल के नए भवन के लिए किया शिलान्यास कृषि मंत्री श्री पटेल ने जन सेवा अभियान के तहत हितग्राहियों को वितरित की सहायता कृषि मंत्री श्री पटेल ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण हरदा बिग ब्रेकिंग : दुःखद सड़क दुर्घटना में पति-पत्नी सहित दो मासूम बच्चों की मौत, चाचा गंभीर घायल, क... तूफानी रफ्तार : 25 फीट दूरी तक उछलकर नाले में पलटी कार, एयर बैग खुलने से बची युवक की जान सड़क बनाने खोदी मुरम, गड्ढे में भरा वर्षा का पानी, तीन बच्चियों की डूबने से मौत BREAKING NEWS : ट्रक और फोर व्हीलर वाहन भीषण टक्कर, हरदा के एक ही परिवार के 4 लोगों की मौत, 1 गंभीर अशोक गहलोत ने बताई बागी विधायकों की नाराजगी की वजह, पायलट गुट पर साधा निशाना उजड़ गए 3 परिवार, बच्चों के शव देख कांपी रूह, अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़