ब्रेकिंग
सिवनी मालवा: लापरवाही, मुरूम की जगह खेतों की मिट्टी का हो रहा उपयोग  ग्रामीण फिसल कर हो रहे हैं घाय... Love Story : बेटे की शादी से पहले समधी को समधन से हो गया प्यार, समधन को लेकर हुआ फरार, समधी के 10 और... Big News Up: VIP प्रमुख मुकेश सहनी के पिता जितन सहनी की जघन्य हत्या, पत्नी के निधन के बाद अकेले रहते... Harda News: RTO आफिस के निरीक्षण में नहीं मिला कोई अधिकारी कर्मचारी, आरटीओ के विरूद्ध होगी अनुशासनात... Harda News: हंडिया अस्पताल के अनुपस्थित अधिकारी कर्मचारियों का वेतन काटने के निर्देश Harda News: कलेक्टर श्री सिंह ने हंडिया का दौरा किया, नाली निर्माण के दिये निर्देश, हंडिया के पंचायत... Harda News: कलेक्टर श्री सिंह ने कन्या छात्रावास का आकस्मिक निरीक्षण किया Harda big news: चोर गिरोह ने फिर बड़ी चोरी की वारदात को दिया अंजाम, किसान के घर कुत्ते को बेहोश कर घ... साले ने की जीजा की चाकू मारकर बेरहमी से की हत्या, फैली सनसनी, मोघट रोड पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्त... Aaj Ka Rashifal | राशिफल दिनांक 16 जुलाई 2024 | जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे

Harda: नगरीय क्षेत्रों में 15 जुलाई से आयोजित होगा पौधरोपण अभियान

हरदा / प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों में 15 जुलाई से 15 सितम्बर तक व्यापक पौधरोपण अभियान चलाया जायेगा। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने पौधरोपण को बढ़ावा देने के निर्देश दिये हैं। इस उद्देश्य से नगरीय क्षेत्र में पूरे 2 माह पौधरोपण अभियान चलेगा। शहरी क्षेत्रों में 1 करोड़ 75 लाख पौधों को रोपा जायेगा।

राज्य शासन ने नगरीय विकास एवं आवास विभाग से सभी कलेक्टर्स को निर्देश जारी किये हैं। सभी जिला कलेक्टर के नेतृत्व में अन्य विभागों के साथ मिलकर पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा। वर्षाकाल में अधिक से अधिक पौधरोपण करने के निर्देश दिये गये हैं। नगर निगम इंदौर एवं भोपाल में 15-15 लाख, नगर निगम ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन में 10-10 लाख और शेष 11 नगर निगम में 5-5 लाख पौधे रोपे जायेंगे। इसी प्रकार 1 लाख एवं इससे अधिक जनसंख्या की 17 नगर पालिकाओं में 1-1 लाख, 1 लाख से कम जनसंख्या की 82 नगर पालिका में 15-15 हजार और 298 नगर परिषद में 10-10 हजार पौधे लगाये जायेंगे।

नगरीय निकायों द्वारा पौधरोपण का कार्य नगरीय निकाय की स्वयं की हरित क्षेत्र के लिये आरक्षित भूमि, अन्य शासकीय भूमि तथा निजी कॉलोनियों में हरित क्षेत्र के लिये आरक्षित भूमि में किया जाएगा। निजी कॉलोनियों में पौधरोपण जन-सहयोग से होगा। निकाय द्वारा पौधों की आपूर्ति नगरीय निकाय एवं वन विभाग की नर्सरी तथा स्थानीय रूप से उपलब्ध पौधों से की जायेगी।

अभियान में छायादार और औषधीय प्रजाति के पौधों का चयन करने को कहा गया है। सजावटी एवं हेज प्लांट का उपयोग नहीं होगा। निकायों द्वारा किये जाने वाले पौधरोपण की सुरक्षा का उचित प्रबंध करने को भी कहा गया है। निश्चित अंतराल एवं आवश्यकतानुसार पानी देने की व्यवस्था के भी निर्देश हैं। पौधों की निगरानी एवं रख-रखाव में निकाय द्वारा गैर सरकारी संस्थाओं और आम नागरिकों से सहयोग लेने की अपेक्षा की गई है।

पौधरोपण कार्य वन, उद्यानिकी तथा नगरीय निकाय के स्वयं की उद्यानिकी शाखा के तकनीकी मार्ग दर्शन में किया जायेगा। अभियान में स्मृति वन, नक्षत्र वन, संस्कृति वन विकसित करने को प्रोत्साहित करने को कहा गया है। निकायों द्वारा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट तथा सांइन्टिफिक लैंडफिल परिसर में पौधरोपण का कार्य अनिवार्य रूप से करने को कहा गया है।

- Install Android App -

साथ ही जन-अभियान परिषद, स्वयंसेवी संस्थाओं, स्व-सहायता समूह, एनएसएस, एससीसी तथा स्कूल, कॉलेज के छात्र-छात्राओं को भी इस अभियान से जोड़ने के निर्देश दिये गये हैं। वर्तमान में नगरीय निकायों में अमृत 2.0 योजना अंतर्गत हरित क्षेत्रों का विकास कार्य प्रचलित है। पौधरोपण अभियान में वित्तीय व्यवस्था अमृत 2.0 योजना अंतर्गत उपलब्ध राशि, नगरीय निकाय में उपलब्ध स्वयं के स्त्रोत से तथा जन-सहयोग से की जायेगी। इसके अलावा भी प्रति वर्ष नगरीय निकायों द्वारा वर्षाकाल पौधरोपण का कार्य किया जाता है।

Don`t copy text!