ब्रेकिंग
Harda news: अज्ञात युवक की लाश मिली ,कड़ोला नदी के पास पुलिस जांच में जुटी ! सावन के पहले सोमवार महाकालेश्वर मन्दिर मे भक्तों की भीड़,  रात 2:30 से खुले मन्दिर के पट मन्दिर प्रश... Aaj Ka Rashifal | राशिफल दिनांक 22 जुलाई 2024 | जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे खरगोन बेड़ियां: महिला पर जानलेवा हमला करने वाले फरार आरोपी को बेड़िया पुलिस ने किया गिरफ्तार, भेजा जे... हंडिया : भगवान कुबेर की तपोभूमि पर गुरु आश्रमों में भक्ति भाव व श्रद्धा के साथ मनाया गया गुरु पूर्णि... सदबुद्धि यात्रा (हरदा ब्लास्ट पीड़ित द्वारा हरदा से हंडिया तक) अर्थ ग्रीन इनिशिटेटित के तहत किया गया वृक्षारोपण किया बैंक ऑफ बड़ौदा खातेगांव शाखा में मनाया गया 117 वाँ स्थापना दिवस खातेगांव: नगर के शक्ति केंद्र क्रमांक 3 के 6 मतदान केदो के पोलिंग एजेंट का सम्मान जैन समाजजनों ने की भव्य आगवानी: मुनिश्री वीरसागरजी महाराज ससंघ का सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र में हुआ मंगल...

Harda News: सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिये वेक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू होगा, मीडिया प्रतिनिधियों व समाजसेवी संगठनों को दी जानकारी

हरदा : देश में महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर के लगातार बढ़ रहे प्रकरणों को ध्यान में रखते हुए सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिये टीकाकरण अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान के प्रचार-प्रसार के लिये बुधवार को मीडिया प्रतिनिधियों और समाज सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों की कार्यशाला आयोजित की गई। इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एच.पी. सिंह ने बताया कि महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर ह्यूमन पेपीलोमा वायरस के संक्रमण के कारण होता है।

यदि सही समय पर इस रोग का उपचार किया जाए तो इस रोग से प्रभावित महिलाओं की जान बचाई जा सकती है। उन्होने बताया कि कलेक्टर श्री आदित्य सिंह के निर्देश पर समाज सेवी संगठनों की मदद से पहले चरण में 9 से 15 साल की उम्र की बालिकाओं को सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिये निःशुल्क टीका लगाया जाएगा।
जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में आईएमए की सचिव डॉ. ममता जीवने व डॉ. सनी जुनेजा ने सर्वाइकल कैंसर के संबंध में मीडिया प्रतिनिधियों और समाज सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों को विस्तृत जानकारी दी।

उन्होने बताया कि विश्व स्तर पर महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर सबसे आम स्त्रीरोग संबंधी कैंसर रोग है। यह महिलाओं की युवा आबादी में सामान्यतः पायी जाने वाली बीमारी है। सर्वाइकल कैंसर की शुरूआती अवस्था में महिलाओं में कोई लक्षण नजर नही आते है। शुरूआती अवस्था में सर्वाइकल कैंसर का पता लगने पर इसका उपचार आसान रहता है। महिला में सर्वाइकल कैंसर होने पर अनियमित माहवारी, सफेद एवं बदबूदार वेजाईनल स्त्राव, रजोनिवृत्ति उपरांत रक्त स्त्राव तथा पेट एवं कमर दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते है।
सर्वाइकल कैसर को रोकने के लिये प्राथमिक रोकथाम एच.पी.वी. टीकाकरण है। इसके लिये बाजार में तीन प्रकार की वैक्सीन उपलब्ध है। इसके तहत 9 से 15 वर्ष आयु वर्ग की बच्चियों में 2 डोज 6 महिने के अंतराल से लगाये जाते है। साथ ही 15 से 26 वर्ष आयुवर्ग की महिलाओं को 3 टीके लगते है, दूसरा टीका पहले टीके के एक माह बाद एवं तीसरा टीका पहले टीके के 6 माह बाद लगाया जाता है।

Harda News: जनसंख्या दिवस पर जिला चिकित्सालय में 11 जुलाई से लगेगा नसबंदी शिविर

- Install Android App -

Don`t copy text!