ब्रेकिंग
हरदा के युवक की लाश खंडवा जिले में रेलवे ट्रैक पर मिली, गुरु पूर्णिमा पर धुनि वाले दादा जी के दर्शन ... भारी बारिश से मप्र मे धंसा रेल्वे ट्रेक, मध्यप्रदेश महाराष्ट्र भारी बारिश का कहर आवागमन हुआ बाधित सिवनी मालवा: 11:15 तक मोरघाट माध्यमिक शाला में कोई शिक्षक नही आया विद्यार्थी दीवार कूद कर अंदर खड़े,... Harda news: अज्ञात युवक की लाश मिली ,कड़ोला नदी के पास पुलिस जांच में जुटी ! सावन के पहले सोमवार महाकालेश्वर मन्दिर मे भक्तों की भीड़,  रात 2:30 से खुले मन्दिर के पट मन्दिर प्रश... Aaj Ka Rashifal | राशिफल दिनांक 22 जुलाई 2024 | जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे खरगोन बेड़ियां: महिला पर जानलेवा हमला करने वाले फरार आरोपी को बेड़िया पुलिस ने किया गिरफ्तार, भेजा जे... हंडिया : भगवान कुबेर की तपोभूमि पर गुरु आश्रमों में भक्ति भाव व श्रद्धा के साथ मनाया गया गुरु पूर्णि... सदबुद्धि यात्रा (हरदा ब्लास्ट पीड़ित द्वारा हरदा से हंडिया तक) अर्थ ग्रीन इनिशिटेटित के तहत किया गया वृक्षारोपण किया

Harda : शाला प्रवेश उत्सव के दौरान स्कूल जाने योग्य सभी बच्चों का एडमिशन कराएं, कलेक्टर श्री सिंह ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में दिये निर्देश


हरदा :
कलेक्टर श्री सिंह ने सोमवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी व जिला परियोजना समन्वयक को निर्देश दिये कि 6 वर्ष तक की आयु के सभी बच्चों का स्कूल में प्रवेश अवश्य करायें। उन्होने कहा कि शाला प्रवेश उत्सव के दौरान आंगनवाड़ी केन्द्रों में दर्ज 6 वर्ष आयु के बच्चों को चिन्हित कर उन सभी को स्कूल में पंजीबद्ध कराने के निर्देश दिये और कहा कि स्कूल जाने योग्य कोई भी बच्चा स्कूल में पंजीयन से न छूटे। बैठक में जिला पंचायत के सीईओ श्री रोहित सिसोनिया के अलावा सभी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी व विकासखण्ड स्रोत समन्वयक भी मौजूद थे। उन्होने डीईओ व डीपीसी को अनुश्रवण समितियों तथा शाला प्रबन्धन समिति की बैठक नियमित रूप से आयोजित करने के भी निर्देश दिये। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देश दिये कि डीईओ व डीपीसी के वेतन एवं वाहन के देयकों का भुगतान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के अनुमोदन उपरान्त ही किया जाए।
कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में शिक्षक विहीन शालाओं में शिक्षकों की व्यवस्था करने के लिये कहा। बैठक में उन्होने स्कूलों में विद्यार्थियों को गणवेश वितरण, सायकिल वितरण, निःशुल्क पुस्तक वितरण व मध्यान्ह भोजन वितरण की विस्तार से समीक्षा की। उन्होने शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत गरीब बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति के लिये अब तक किये गये भुगतान की जानकारी भी ली और कहा कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत गरीब बच्चों के लिये आरक्षित कोई भी सीट खाली न रहे। डीपीसी ने बैठक में बताया कि जिले के प्रायवेट स्कूलों में शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत कुल 853 सीट निर्धारित थी, जिसके विरूद्ध कुल 547 आवेदन ही ऑनलाइन प्राप्त हुए है, जिस पर कलेक्टर श्री सिंह ने रिक्त सीटों को भरने के लिये सभी बीईओ व बीआरसी को व्यक्ति रूचि लेकर विशेष प्रयास करने के लिये कहा। उन्होने स्कूल परिसर में अतिक्रमण के संबंध में जानकारी भी ली।
कलेक्टर श्री सिंह ने स्कूल परिसरों में खेल मैदान के लिये बीईओ व बीआरसी से कहा कि अपने क्षेत्र के जिला पंचायत व जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से सम्पर्क करें। डीपीसी ने बैठक में बताया कि जिले के 60 माध्यमिक शालाओं में बच्चों के लिये फर्नीचर उपलब्ध कराया गया है। इसके अलावा 48 शालाओं में पुस्तकालयों के लिये फर्नीचर उपलब्ध कराया गया है। कलेक्टर श्री सिंह ने जिला शिक्षा अधिकारी व विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये कि कक्षा 8 से 9 वी में जाने वाले विद्यार्थियों में से कितने विद्यार्थियों ने प्रवेश नहीं लिया है, उन्हें चिन्हित कर उनका हाई स्कूल में प्रवेश करायें। कलेक्टर श्री सिंह ने सभी बीआरसी एवं विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र के विद्यालयों का नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश भी बैठक में दिये। उन्होने कहा कि जिन बच्चों की समग्र आईडी नहीं बनी है, उनके लिये जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व एसडीएम से समन्वय बनाकर समग्र आईडी बनवाई जाएं।

- Install Android App -

Don`t copy text!