ब्रेकिंग
आज दिन गुरुवार का राशिफल जानिये आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे शुद्ध बुद्धि यशोदा है जब दोनों का मिलन होता है तब हृदय के अष्ट कमल पर आनंद रूपी कृष्ण अवतार होता है।... हरदा ।  पूज्य बापू और सुभाषजी की प्रतिमा पर  माल्यार्पण करते समय कलेक्टर पहने हुए थे जूते ! मुंबई के ईस्ट बांद्रा में गिरी पांच मंजिला इमारत, कम से कम 5 लोगों के फंसे होने की आशंका गूगल के CEO सुंदर पिचाई के खिलाफ FIR दर्ज, कॉपीराइट के उल्लंघन का मामला हरदा : कांग्रेसजनों ने झंडावंदनकर 73वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया स्कूल की पानी की टंकी ढही, एक बालक की मौत, तीन गंभीर विद्युत कंपनियो के मुख्यालय मे गणतंत्र दिवस समारोह  आयोग अध्यक्ष न्यायमूर्ति जैन द्वारा पर्यावास भवन परिसर में ध्वजारोहण कार्यक्रम सम्पन्न इंदौर में देह व्यापार वाले होटल और स्पा एक साल के लिए सील
Browsing Category

संपादकीय

शनिदेव का साल है, संभल कर चलने में ही भलाई है…

कौशल किशोर चतुर्वेदी  की कलम से अंग्रेजी नव वर्ष का पहला दिन शनिवार है। ऐसे में शनिदेव का यह साल किसी को भी कभी भी बेहाल कर सकता है। पहले दिन ही इसके संकेत खुलकर हवा में तैर रहे हैं। समझ सको तो समझ लो, वरना भुगतान करने के लिए तैयार…

दूसरी लहर को लेकर व्यर्थ का दोषारोपण: संजय गुप्त

कोविड महामारी की दूसरी लहर के चरम पर पहुंचने के बाद ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वह धीरे-धीरे ही सही, थम रही है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का आकलन है कि यह लहर कम तो हो रही है, पर इसके निष्क्रिय होने में समय लगेगा और इसीलिए तमाम शहरों में लॉकडाउन…

महिला दिवस पर विशेष : नारी का सफर – लेखक मनोरमा चौहान

नारी मानव जाति की जननी और पीढ़ियों को जोड़ने वाली एक कड़ी है नारी मानव जाति की जननी और पीढ़ियों को जोड़ने वाली एक कड़ी है वैदिक काल में तो महिलाओं को देवी तुल्य समझा जाता था परंतु मुगल साम्राज्य की स्थापना के बाद ब्राह्मणों द्वारा हिंदू धर्म…

किसानो को मोहरा बनाकर पार्टियां सेंक रही राजनीतिक रोटियां

कैलाश सेजकर मध्यप्रदेश । देश में आज सबसे ज्यादा चर्चित मुद्दा किसान आंदोलन है।जिसमें पंजाब और हरियाणा के किसानों ने दिल्ली को चारो ओर से घेर रखा हैं।किसानों ने सरकार द्वारा बनाए किसान कानून का विरोध करते हुए धरना आंदोलन तेज कर दिया है।…

संपादकीय : आतंकियों की जमीन

बहुत दिन नहीं हुए, जब भारत की एक पहचान यह भी थी कि दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश होने के बावजूद यहां का एक भी मुस्लिम अलकायदा का सदस्य नहीं है, लेकिन स्थिति किस तरह बदल गई, इसका ताजा प्रमाण है राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी…

संपादकीय : बरगलाने वाली सियासत

दुष्प्रचार और संकीर्ण स्वार्थों की राजनीति कैसे-कैसे गुल खिलाती है, इसका ताजा उदाहरण है कृषि से जुड़े तीन महत्वपूर्ण विधेयकों का विरोध। जब इन विधेयकों को अध्यादेश के रूप में लाया गया था तो आम तौर पर उनका स्वागत किया गया था, लेकिन अब जब…

हिंदी भाषा, अधिकार और सम्मान

राखी सरोज:- हिंदी भारत में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। देश भर में प्रकाशित होने वाले पत्र-पत्रिकाओं की संख्या 1 लाख 14 हजार 8 सौ 20 है जिसमें सर्वाधिक संख्या हिन्दी पत्र-पत्रिकाओं की है । भारतीय समाचार पत्र पंजीयन की भारतीय…

संपादकीय : संसद सत्र से उम्मीदें

अगले सप्ताह से शुरू हो रहे संसद के मानसूत्र सत्र की ओर देश की निगाहें केवल इसलिए नहीं रहेंगी, क्योंकि कोरोना संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, बल्कि इसलिए भी रहेंगी कि लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर युद्ध के बादल मंडराते दिख रहे…

संपादकीय : आत्मनिर्भरता की राह

प्रधानमंत्री ने 'मन की बात कार्यक्रम में एक बार फिर आत्मनिर्भरता को रेखांकित करते हुए इस पर खासा जोर दिया कि देश को खिलौनों और मोबाइल गेम्स के मामले में भी आत्मनिर्भर बनने की जरूरत है। उन्होंने जिस तरह यह कहा कि अब सभी के लिए देश में बने…

क्या छात्रों के जीवन का मोल नहीं है ?

राखी सरोज :- शिक्षा जिसका महत्व हम सभी के जीवन में है,और रहेगा।  कोरोनावायरस ने हमारे जीवन में आकर बदलाव का खेल इस तरह से खेला है कि अब लगता है जैसे पहले जैसा कुछ रहा ही नहीं है। नौकरी, पढ़ाई या जीवन सब कुछ बदल गया है। बिमारी का बढ़ता…

सोशल वेबसाइट या एप हम सभी कितने सही

राखी सरोज :- भारत देश एक बहुत बड़ी जनसंख्या वाला देश है। भारत में युवाओं की संख्या बहुत अधिक है। जिसके चलते भारत में सोशल वेबसाइट का प्रयोग भी बहुत अधिक है। जिसमें से भारत में फ़ेसबुक, ट्वीटर और व्हाट्सएप का प्रयोग आम सी बात है। आज कल…

स्त्री की असल स्थिति क्या है भारत में

राखी सरोज :- भारत में स्त्री को देवी का दर्जा दें कर पूजा जाता है। किंतु नारी रूप में जन्म लेना और जीवन जीना क्या स्त्री के लिए भारत देश में उतना ही आसान है जितना देवी रूप में पूजा जाना। चाहे हम रामायण की बात करें या महाभारत की…

स्त्रियों को कब मिलेगी आजादी

राखी सरोज:- भारत में आजादी के जश्न में आज एक चीख सुनाई दे रही है। उन स्त्रियों की जिन्हें समाज की सोच अब भी बांधे रखतीं हैं। एक स्त्री जिसे आजाद देश में अपना जीवन जीने का हक नहीं है। स्त्री रूप में जन्म लेना यानी प्रथा, संस्कृति,…

एक विचार भारत की युवक जनसंख्या के नाम।

राखी सरोज:- 130 करोड़ आबादी वाला देश जहां की बड़ी आबादी युवा वर्ग में आती है वह भारत हैं। एक देश जहां युवाओं की जनसंख्या जरूरत से अधिक है। इतनी अधिक की जनसंख्या एक बड़ी समस्या बनकर अन्य समस्याओं को जन्म देने लगी है। किसी भी देश के…

आजादी के सच्चे मायने कही खो ना जाएं

राखी सरोज :- कुछ दिनों में भारत देश की आजादी के तिहत्तर साल पूरे होने जा रहे हैं। एक ऐसा दिन जिसे भारत के त्यौहार की तरह बना कर अपनी खुशी जताते है। किंतु इतने दिन की आजादी में हमने क्या पाया है यह समझना जरूरी है। तिहत्तर साल की आजादी में…

आलेख : स्वराज के प्रणेता लोकमान्य तिलक – अमित शाह

अमर स्वतंत्रता सेनानी और महान विचारक लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने सौ साल पहले एक अगस्त 1920 को इस लोक से परलोक की ओर प्रयाण किया था, परंतु उनके व्यक्तित्व, विचार और उनके द्वारा स्थापित परंपराओं की प्रासंगिकता आज भी पहले जितनी ही है। उनका…

कश्मीर की परिस्थितियां धारा 370 हटाए जाने के बाद

राखी सरोज:- कश्मीर जिसे धरती का स्वर्ग कहा जाता है सालों से आतंक और दर्द के गूंज से झुलस रहा है इसी कश्मीर पर लगने वाली धारा 370 को भारत सरकार द्वारा 5 अगस्त 2019 को संसद में प्रावधान पास कर द्वारा हटा दिया गया। जिसके बाद जम्मू कश्मीर को…

संपादकीय: क्यों राखी का हक़ भाई की कलाई को

राखी सरोज :- भारत देश में हिंदू द्वारा बनाया जाने वाला त्यौहार रक्षाबंधन, बहन और भाई के प्रेम का प्रतीक माना जाता है। एक  त्यौहार जिस पर बहन अपने भाई की कलाई पर राखी नामक धागा बांधती है और भाई, बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है। किंतु…

संपादकीय : दिशाहीन कांग्रेस

सोनिया गांधी की ओर से बुलाई गई बैठक से जैसी खबरें छनकर बाहर आईं, उनसे इसी बात की पुष्टि होती है कि कांग्रेस न केवल दिशाहीनता से ग्रस्त है, बल्कि पुरानी और नई पीढ़ी के नेताओं में बन भी नहीं रही। चूंकि पुरानी पीढ़ी के नेता सोनिया गांधी के करीबी…

संपादकीय : घातक लापरवाही

लॉकडाउन को शिथिल करने के नए निर्देश यदि कुछ बता रहे हैं तो यही कि कोरोना वायरस के संक्रमण और उससे उपजी महामारी कोविड-19 का खतरा अभी टला नहीं है। खतरा बरकरार रहने के संकेत कोरोना के नए मरीजों की संख्या से भी मिल रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से…

प्रेम चंद के नाम

राखी सरोज:- इंसान अपने जीवन में अपने कष्टों और तकलीफ को समझता है। किंतु एक लेखक दूसरों के दर्द और तक़लिफों को भी महसूस कर अपने एहसासों में जी कर अपनी कलम से शब्दों ‌में पिरोता है और इस कार्य को सबसे अच्छे से हिंदी साहित्य के जाने माने…

कोरोनावायरस की कितनी श्रेणियां

राखी सरोज:- पूरी दुनिया आज कोरोनावायरस कहें जाने वाले कोविड 19 नामक वायरस से परेशान हैं। सभी इसके इलाज की खोज करने के लिए दिन रात लगे हुए हैं। सितंबर तक वैक्सीन आने की उम्मीद भी नजर आ रही है। किंतु इन सबके बीच में एक चौंकाने वाली खबर आई…

फिल्मों का विरोध क्यों और कब तक

राखी सरोज:- नेपोटिजम का विरोध बॉलीवुड में आज कल एक नया मोड़ लेकर आया है। अभिनेताओं के बच्चों की फिल्मों का विरोध हो रहा है। जिसमें जानवी कपूर की आने वाली फिल्म गुंजन सक्सेना का विरोध बड़े ही जोर-शोर से किया जा रहा है। एक एक्टर की मौत के…

बिहार में कोरोनावायरस का प्रभाव

राखी सरोज:- मार्च महीने से भारत में कोरोनावायरस का फैलाव और उसको रोकने के लिए तैयारी चल रही है। दिल्ली मुंबई जैसे बड़े महानगरों में सब से पहले इस बीमारी का प्रभाव देखने को मिला। जहां तेजी से बढ़ते आंकड़ों ने लोगों को डरा दिया। किंतु इन…

शिक्षा बनाम स्वास्थ

लॉक डाउन में ऑनलाइन क्लास शुरू की गई है। सभी स्कूलों द्वारा शिक्षा को जारी रखने के लिए। किन्तु इस से छात्रों के स्वास्थ पर पड़ने वाला बूरा असर कैसा है। यह हम सोच ही नहीं रहें हैं। बच्चों की आँखो और कानों में दर्द होना एक बहुत ही आम समस्या…

कोरोनावायरस का प्रभाव हवा में

राखी सरोज :- कोरोनावायरस के हवा में फैलने की बात कही जाने लगी है। 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने दावा किया कि हवा से भी कोरोनावायरस फैलता है। इन वैज्ञानिकों का मानना है कि कोरोनावायरस के कण बिना हवा के भी 8 से 13 फ़ीट की दूरी ते कर सकते…

बढ़ती जनसंख्या बनतीं बड़ा खतरा

राखी सरोज:- जनसंख्या दिवस का उद्देश्य है कि बढ़ती जनसंख्या को रोकने का प्रयास किया जाए।  जिसके लिए हमें समय-समय पर बढ़ती जनसंख्या के नुकसान ओ की जानकारी दी जाती है ताकि हम यहां समझे की बढ़ती जनसंख्या हमारे लिए क्यों रोकना आवश्यक है किंतु…

वैक्सीन की जल्दबाजी कहीं पड़ ना जाए भारी

राखी सरोज:- कोरोनावायरस का कहर हम सभी कुछ महीनों से अपने जीवन में देख रहे हैं। सभी यही दुआ कर रहे हैं कि जल्द से जल्द इस बिमारी का तोड़ खोजा जा सकें। जिसके लिए दिन रात हर देश में वैज्ञानिक कोशिश कर रहे हैं। इस समय 145 कम्पनियों द्वारा पूरे…

कृषि प्रधान देश में बिहार और उत्तर प्रदेश की स्थिति

राखी सरोज बदरपुर (नई दिल्ली) हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है। हमारे देश के प्रधानमंत्री रह चुके लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान जय किसान का नारा भी इसी लिए दिया था क्योंकि वह जानतें थें कि जवान और किसान यही दो ऐसे लोग हैं जो‌ देश के…

लॉक डाउन में स्त्रियों की स्थिति

राखी सरोज:- दुनिया की आधी आबादी कही जाने वाली स्त्रियां सदैव से ही भेदभाव और अत्याचार को देखती आईं है और बदलाव के लिए आवाज भी उठाती रही है। हम इतिहास काल में रजिया सुल्तान, झांसी की रानी, दुर्गा भाभी जैसी अनेक स्त्रियों की ‌बात करें या फिर…

संपादकीय : चीन से निपटने के तरीके

चीनी सेना ने लद्दाख की गलवन घाटी में जैसी घिनौनी और नीच हरकत की, उसके बाद भारत के सामने इसके अलावा अन्य कोई उपाय नहीं कि उसे माकूल जवाब दिया जाए। आनन-फानन विश्व महाशक्ति बनने के नशे में चूर तानाशाह चीन को जवाब देने के कई तरीके हैं और उनमें…

संपादकीय : बैर बढ़ाता नेपाल

नेपाली संसद के निचले सदन ने जिस तरह उस विवादित मानचित्र को मंजूरी दे दी, जिसमें उत्तराखंड के लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा को नेपाल का बताया गया है, उससे यही प्रकट होता है कि वहां की सरकार भारत से बैर बढ़ाने पर आमादा है। चूंकि नेपाल की…

संपादकीय : सर्वे का सही कदम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जो तय किया कि 10 राज्यों के 38 जिलों में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए घर-घर सर्वे किया जाएगा, वह वक्त की जरूरत है। अच्छा होता कि इस तरह का फैसला और पहले ही ले लिया गया होता। कम से कम अब केंद्रीय…

आलेख : अब नहीं चलेगी चीन की आक्रामकता – हर्ष वी. पंत

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर हालिया तनातनी के बाद विगत शनिवार को दोनों पक्षों के बीच साढ़े पांच घंटे की वार्ता भी हो गई, जिसमें कोई ठोस नतीजा नहीं निकला। दोनों देशों के बीच करीब 3,488 किलोमीटर में फैली एलएसी का…

संपादकीय : कैबिनेट के फैसले

अपने दूसरे कार्यकाल का पहला वर्ष पूरा करने के बाद मोदी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में अर्थव्यवस्था को बल देने के लिए जो अनेक फैसले लिए गए, उनकी महत्ता इससे स्थापित होती है कि उनके बारे में जानकारी देने का काम तीन केंद्रीय मंत्रियों ने किया।…

छत्तीसगढ़ विकास की आधार शिला के सूत्रधार अजीत जोगी, छत्तीसगढ़ के निर्माता थे अजीत जोगी

विजया पाठक छत्तीसगढ़। निर्माता और प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी अब हमारे बीच नहीं है। भारतीय प्रशासनिक सेवा की नौकरी छोड़कर राजनीति की दहलीज पर पांव रखकर मुख्यमंत्री पद तक का सफर तय किया। राजनीति के इस सफ़रनामे में उन्होंने कई…

जीतू सोनी ने चुकाई हनीट्रैप मामले को उजागर करने की कीमत, संबंधों पर भारी सियासत

विजया पाठक मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप मामले को चरम पर पहुंचाने के पहले ही ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। इंदौर के व्यापारी और लोकस्वामी अख़बार के मालिक जीतू सोनी इस मामले की धीरे-धीरे परत खोल ही रहे थे कि तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने…

दारू के ठेकों पर ऐसी डार्क कामेडी

दारू के ठेकों पर ऐसी डार्क कामेडी लेखक प्रकाश भटनागर मध्यप्रदेश के निर्विवाद रूप से मशहूर स्टैंड अप कामेडियन रहे केके नायकर ने अपने शीर्ष वाले दौर में चाट के ठेले पर एक कॉमेडी आइटम पेश किया था। इसमें वह कहते हैं कि पानी फुल्की के लिए…

मन की बात नही अब काम की बात हो जाए मोदी जी – विजया पाठक

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात के माध्यम से देश को संबोधित किया लॉक डाउन में प्रधानमंत्री का तीसरा संबोधन था संबोधन में प्रधानमंत्री ने लॉकडॉउन के दौरान देशवासियों को हो रही परेशानी के लिए माफी मांगी इसके साथ ही…

मप्र : रायता फैल चुका है… न काहू से बैर : राघवेंद्र सिंह

मध्यप्रदेश की सियासत पर इन दिनों भांति भांति के रंग चढ़े हैं। सत्ता में तख्ता पलट के साथ राज्यसभा चुनाव जीतने का मामला हो तो हुर्रियारों की तरह हुड़दंग मचाते नेता गण खरीदने और बिकने की भांग के कुएं में डूबे हुए हैं। नीलामी का आलम ये है कि…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!