ब्रेकिंग
Harda News: उर्वरक एवं बीज विक्रेता 2 दिवस में विक्रय एवं भण्डारण संबंधित जानकारी प्रदर्शित कराएं Harda News: ‘‘हिट एंड रन’’ के मामले में गंभीर घायल होने पर 50 हजार रु. की सहायता स्वीकृत Harda News: राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक 1 जून को होगी Harda News: विश्व तम्बाकू निषेध दिवस 31 मई को Harda News: भीषण गर्मी के कारण आंगनवाड़ी केन्द्रों के समय में परिवर्तन Harda News: विस्फोट दुर्घटना में प्रभावित परिवारों की महिलाओं को दिया सिलाई प्रशिक्षण Harda News: राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को मतगणना संबंधी व्यवस्था की जानकारी दी Harda News: ग्रामीण क्षेत्र में संचालित सभी निर्माण कार्य समय सीमा में पूर्ण करें, कलेक्टर श्री सिं... Harda News: कलेक्टर श्री सिंह ने मनमानी फीस लेने वाले 9 स्कूलों पर लगाया 2-2 लाख रु. का अर्थदंड, 2 स... Harda News: जलस्रोतों के संरक्षण हेतु 5 से 15 जून तक आयोजित होगा विशेष अभियान ‘नमामि गंगे’ अभियान की...

Harda News: अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़ितों को पात्रतानुसार राहत दिलाएं: कलेक्टर श्री सिंह ने अधिकारियों को दिये निर्देश

हरदा : कलेक्टर श्री आदित्य सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत गठित जिला स्तरीय सतर्कता समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक को निर्देश दिये कि अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़ित व्यक्तियों को समय पर राहत दिलाई जाए तथा दोषी व्यक्तियों को अधिनियम के प्रावधानों के तहत न्यायालय के माध्यम से सजा दिलाई जाए। इस अवसर पर जिला अभियोजन अधिकारी भी उपस्थित थे। जिला संयोजक डॉ. कविता आर्य ने बैठक में बताया कि अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत इस वर्ष अब तक अनुसूचित जाति के 63 लोगों को 72 लाख रुपये तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के 49 लोगों को 54 लाख 56 हजार रूपये स्वीकृत किये गये है।

इनमें से अनुसूचित जाति वर्ग के 26 लोगों को 31 लाख 50 हजार रुपये तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के 30 लोगों को 33 लाख रूपये की राहत वितरित की जा चुकी है।

इस तरह कुल 56 लोगों को 64 लाख 50 हजार रुपए की राहत वित्तीय वर्ष 2023-24 में अब तक दिलाई जा चुकी है। उन्होने बताया कि शेष 56 लोगों को 62.063 लाख रूपये के भुगतान के लिये आयुक्त अनुसूचित जनजाति विकास विभाग से आवंटन की मांग की गई है।

________________________________

यह भी पढ़े –

- Install Android App -

Don`t copy text!