ब्रेकिंग
हरदा: गैस सिलेण्डर अधिक मात्रा में संग्रहित होने पर तत्काल सूचित करें इन नंबरों पर Harda: गेहूँ उपार्जन हेतु 1 व चना उपार्जन हेतु 10 मार्च तक होंगे किसान पंजीयन Aaj Ka Rashifal: आज 28/01/2024 का राशिफल, Daily Horoscope Harda News: उपभोक्ता आयोग हरदा का आदेश: बैंक मैनेजरों को उपभोक्ता आयोग का कारण बताओ नोटिस जारी टिमरनी : खनिज विभाग की रेत माफियाओं से सांठ गांठ विधायक अभिजीत शाह पकड़ रहे अवैध रेत की ट्रेक्टर ट्रा... Harda News: अतिवृष्टि ओलावृष्टि से तबाह हुई किसानो की फसल, विधायक अभिजीत शाह पहुंचे खेतो में Harda News: राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण एजेंसी ठेकेदार द्वारा किसानों के खेतो में जाने वाले मार्ग को ... Breaking News: अब प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों को PPP मॉडल के तहत हवाई मार्ग से जोड़ा जाएगा साथ ही ... ग्राम पंचायत सचिव भर्ती 2024: पंचायत सचिव के 8000 पदों पर निकली भर्ती, ऐसे करे आवेदन PM Ujjwala Yojana 2024 : केंद्र सरकार ने किया बड़ा बदलाव, अब सिर्फ इन महिलाओं को मिलेगा लाभ

Vivad se Vishwas Yojana 2: ‘विवाद से विश्वास’ सरकारी ठेकों में विवादों का जल्दी होगा खात्मा, शुरू होगी विवाद से विश्वास योजना, जाने

विवाद से विश्वास योजना क्या है – विवाद से विश्वास 2 योजना के तहत विवाद का समाधान  करने के इच्छुक करदाताओं को 31 दिसंबर तक टैक्स की पूरी राशि जमा कराने पर ब्याज और जुर्माने से छूट मिल जाएगी। इस योजना के तहत 9.32 लाख करोड़ रुपए के 4.83 लाख प्रत्यक्ष कर मामलों के निपटान का लक्ष्य है।

विवाद से विश्वास योजना –

वित्त मंत्रालय ने बताया कि विवाद से विश्वास योजना के तहत सरकारी ठेकों से जुड़े लंबे विवादों का समाधान 15 जुलाई से शुरू होगा और ठेकेदारों को अपने दावों को प्रस्तुत करने का समय 31 अक्टूबर तक होगा। 2023-24 के बजट में विवाद से विश्वास योजना की घोषणा हुई थी, जिसमें विवाद की स्थिति के आधार पर ठेकेदारों को समाधान राशि पेश की जाएगी।

वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किए गए एक आलेख में कहा गया है कि इस योजना के तहत, उन मामलों में जिनमें अदालत आदेश पारित किया गया है, उन विवादों में समाधान राशि का 85% या 65% होगा, जो कि अदालत या मध्यस्थता न्यायाधिकरण द्वारा तय की गई राशि की है। यह योजना सार्वजनिक निजी भागीदारी और पूर्व औद्योगिक एवं वाणिज्यिक विवादों पर भी लागू होगी, जिसमें सरकार की हिस्सेदारी 50% होगी।

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

इस योजना के अनुसार –

जो मामले 30 अप्रैल, 2023 तक अदालती आदेश और 30 जनवरी, 2023 तक मध्यस्थता फैसले पारित हो गए हैं, उन्हें शामिल किया जाएगा। योजना का उद्देश्य लंबित मुकदमेबाजी को समाप्त करना है, और कारोबार सुगमता की स्थिति को सरल और बेहतर करना है।”

Don`t copy text!