ब्रेकिंग
क्यों होता है थाने में हनुमान मंदिर | Why is there Hanuman temple in the police station? हंडिया : सड़क की सेफ्टी बाल टूटी सड़क बहने का खतरा बढ़ा। सिवनी मालव : चिकित्सक कराते रहे एनक्यूएएस की टीम को जलपान: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में घंटों मरीज... Big News: Cm योगी आदित्यनाथ को मिली बम से उड़ाने की धमकी, सोशल मिडिया एक्स पर 5 दिन मे बम से उड़ाने क... Britain News: ब्रिटेन मे लीड्स शहर मे दंगे, मास्क पहने आरोपियो ने जमकर तोड़ फोड़ की वाहनो को पलटा कां... Mp Big News: प्रधान पाठिका को जातिप्रमाण पत्र के लिये 250 रुपए लेना पड़ा महंगा, पालक ने बनाया विडियो ... Big Breaking: बांग्लादेश का छात्र विरोध प्रदर्शन देश के लिए सबसे घातक हो रहा है। छात्रों ने कई सरकार... Khandwa Big News : वन विभाग गश्ती टीम ने ढाई लाख की सागौन व दो तस्कर पकड़े, पकड़े गए आरोपी बोले मुख्... Sariya Rate Mp (19/07/2024): गिरे सरिया के दाम, मकान बनवाने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, देखें आज के त... Harda Mandi Bhav | हरदा, सिराली, टिमरनी, खिरकिया मंडी भाव | 19 जुलाई 2024

Betul News: बैतूल में रामभक्ति भी ऐसी कि सीताराम नाम से ही लिखी रामायण, आईए जानते भक्त केदार पटेल के बारे में

सीताराम नाम शब्द से रामायण लिखी जाना भी एक अनूठी भक्ति की मिसाल बने बैतूल जिले में एक रामभक्त और साथ में राम नाम से हनुमान और रामजी के चित्र भी बनाए आईये जानते है इनके बारें में….

मकड़ाई एक्सप्रेस बैतूल : भगवान और भक्त के बीच कोई नही सिर्फ प्रेम स्नेह होता है। भगवान की भक्ति लगन में भक्त अपने प्रभु को रिझाने के लिए तमाम तरह के उपाय करते है। ऐसा ही कुछ जिले के ग्राम देवगांव निवासी रामभक्त केदार पटेल ने किया। श्री पटेल ने पहले सीताराम शब्द से पूरी रामायण के एक एक शब्द लिख दिए हैं।सीताराम शब्दो से उन्होने पूरी चैपाई और दोहों को लिखा। बताया जा रहा है कि इस पूरे कार्य में उन्हे  छह वर्ष का समय लगा। उन्होने लेखन के साथ ही श्री राम हनुमान के कई चित्र भी सीताराम लिखकर बनाए हैं। उनकी इस अनूठी राम भक्ति से वे गांव ही नही जिले में भी रामभक्त के रूप में पहचाने जाते हैं। 22 जनवरी को राममंदिर का उद्घाटन और प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम होना है ऐसे में लोग केदार पटेल को भी याद कर रहे है।केदार पटेल के अनुसार वह पेंसिल से पहले चौपाई डबल लाइन में लिखते थे और बाद में पेन से सीता-राम-सीता-राम लिखकर चौपाई पूर्ण कर देते थे। इस तरह से पूरी रामायण लिख दी। पेशे से किसान केदार पटेल के द्वारा वर्ष 1997 से करोड़ों बार सीताराम नाम लिखने के साथ ही कई सुंदर चित्र भी बनाए हैं। उनके घर के हर कोने पर रामायण की चौपाइयां लिखी हैं।

- Install Android App -

Don`t copy text!