ब्रेकिंग
Aaj ka rashifal: आज दिनांक 23/02/2024 का राशिफल, जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे टिमरनी: पंचायत सचिव संगठन अध्यक्ष बने रामशंकर चौहान, पंचायत भवनों पर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी अंकित कराएं कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में दि... मकड़ाई एक्सप्रेस की खबर का हुआ असर,सरपंच सचिव ने शासकीय राशि का किया दुरुपयोग, भ्रष्टाचार के मामले ज... हरदा ब्लास्ट पीड़ितों को न्याय दो ! 23 फ़रवरी को घंटाघर चौक शांतिपूर्वक प्रदर्शन करेगा सर्वसमाज ब्र... मोदी सपोर्ट सेवा समिति हरदा कार्यकारिणी का हुआ गठन  Timrani sirali MLA: विधायक अभिजीत शाह की शासकीय विभागों में की जा रही उपेक्षा, ब्लाक कांग्रेस कमेटी ... Ladli bahna yojana:मुख्यमंत्री मोहन यादव बोले लाडली बहनों के खाते में 1 मार्च को आ जायेगा पैसा,कोई भ... Sirali harda: सिराली के इस भूमाफिया पर प्रशासन कब करेगा कार्यवाही? प्रथम दृष्टया रजिस्ट्री में हुई ध... Bhopal: आजाद अध्यापक शिक्षक संघ पदाधिकारियों की प्रांतीय बैठक 25 फरवरी को

Mp Breaking News: गांव की तस्वीर बदलेगी, अपराध मुक्त करने, हर गांव में लगेंगे CCTV कैमरे – डॉ. मोहन यादव | CCTV cameras will be installed in every village – Dr. Mohan Yadav.

तीसरी नजर की जद  में रहेगें गांव, लगेंगे सीसीटीवी कैमरे –

मकड़ाई एक्सप्रेस 24 खरगोन : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने घोषणा की है कि प्रदेश में आवश्यकता के अनुसार संभाग और जिलों की सीमाओं का पुनर्निर्धारण किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी का गठन करके इस प्रक्रिया का अध्ययन किया जाएगा। इस नए परियोजना की शुरुआत के रूप में, इंदौर संभाग से पायलट प्रोजेक्ट को लागू किया जाएगा। साथ ही, उन्होंने थानों की सीमाओं का भी पुनर्निर्धारण शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस प्रक्रिया में स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी सहमति प्राप्त करना चाहिए।

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने आज इंदौर संभाग के खरगोन में आयोजित संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक को संबोधित किया। इस बैठक में, उन्होंने संभाग में चल रहे विकास कार्यों की प्रगति और कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इसके बाद जिला स्तर पर भी इस तरह की समीक्षा बैठकें आयोजित की जाएंगी। बैठक में मुख्य सचिव श्रीमती वीरा राणा और डीजीपी श्री सुधीर कुमार सक्सेना वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए थे। बैठक में संभाग के सांसद, विधायक, स्थानीय निकायों के महापौर और अध्यक्षों सहित प्रशासन और पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री द्वारा इंदौर संभाग के लिए बनाए गए प्रभारी अपर मुख्य सचिव श्री मलय श्रीवास्तव और पुलिस के नोडल अधिकारी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री जयदीप प्रसाद भी विशेष रूप से मौजूद रहे।

हर जिलें में पुलिस का अपना बैंड –

बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस का अपना बैंड होना चाहिए। इसके लिए प्रदेश में कार्रवाही प्रारंभ कर दी गई है। उन्होंने निर्देश दिए कि पुलिस बैंड में पर्याप्त संख्या में सदस्य रहें, ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसके लिए सहमति के आधार पर होमगार्ड के जवानों को भी पुलिस बैंड में शामिल किया जाए। पर्याप्त संख्या में सहमति नहीं मिलने पर होमगार्ड में बैंड वादकों को भर्ती किया जाए। उन्होंने कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि थानों की सीमाओं के पुनर्निर्धारण का कार्य जनप्रतिनिधियों के सुझाव के आधार पर शीघ्र पूरा कर लिया जाए। इसके लिए जिला स्तर पर कमेटी बनाकर कार्रवाही की जाए। यह कार्य निर्धारित समयसीमा में हो।

हर गांव के चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे –

 डॉ. यादव ने कहा कि अपराधों पर प्रभावी निगरानी एवं अपराधों की ट्रेसिंग के लिए अब गांवों के प्रमुख चौराहों और सार्वजनिक स्थानों पर भी पंचायतों के माध्यम से सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे। उन्होंने शहरों में सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि यह कार्य जनसहयोग से किया जाए।

ओंकारेश्वर में नए घाट निर्माण –

बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि आगामी सिंहस्थ के मद्देनजर ओंकारेश्वर में नए घाट निर्माण और दर्शन की सुलभ व्यवस्था के लिए कार्ययोजना बनाई जाए। उन्होंने दर्शनार्थियों की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के भी निर्देश दिए हैं। बैठक में प्रत्येक जिलों में साइबर थानों की स्थापना पर भी चर्चा की गई।

डीजे वाले बाबू चुप हुए या नहीं –

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से पूछा- डीजे वाले बाबू चुप हुए या नहीं। बैठक में जनप्रतिनिधियों ने डीजे तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रों के अनियंत्रित उपयोग के प्रतिबंध को प्रभावी रूप से पालन कराने के लिए की गई कार्यवाहियों की समीक्षा भी की गई। जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा इस संबंध में लिए गए निर्णयों की सराहना की। उन्होंने इस कार्य को आम जन की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए बेहतर कदम बताया। बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. यादव सभी जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे विकास कार्यों के लिये प्रस्ताव बनाकर अपने जिलों के कलेक्टरों के माध्यमों से शीघ्र भेजें|

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

Don`t copy text!