ब्रेकिंग
हरदा: बलाही समाज की बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 18 कन्याओं को निशुल्क सिलाई मशीन वितरण की गई, श्री गणेश भावसार पालक महासंघ मध्यप्रदेश (रजि.) के खंडवा जिला अध्यक्ष नियुक्त हंडिया : आधा घंटा हुई झमाझम बारिश,मौसम हुआ सुहाना, Harda:एक पौधा मां के नाम" अभियान के तहत सर्किट हाउस परिसर में हुआ पौधारोपण, कलेक्टर श्री सिंह और अन्... Harda Big news: सोने चांदी के आभूषण चोरी करने वाले 03 आरोपी गिरफ्तार, 1 लाख 65 हजार के सोने चांदी के... सरकार की शिक्षा विभाग में लचर व्यवस्था आई सामने,जिला अधिकारी का पुतला दहन करेंगे अभाविप , दिया पुलिस... ब्राह्मण समाज हरदा ने पर्यावरण प्रेमी गौरीशंकर मुकाती का सम्मान किया । सिवनी मालवा: शाम होते ही शराबी सड़क पर झलकाते है जाम, पार्किंग सड़क पर आमजन होते है परेशान, Aaj ka rashifal: आज दिनांक 14/07/2024 का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे Khandwa News: नेशनल लोक अदालत शिविर संपन्न ( महापौर ने किया, गुरूपूर्णिमा मेला स्थलो का निरीक्षण )

हरदा : हाईप्रोफाइल मामला | होटल मालिक के पुत्र की जमानत याचिका हुई खारिज, बहु ने लगाया था दहेज प्रताड़ना केस

हरदा / उदयपुर : दहेज प्रताडना के उदयपुर राजस्थान के मामले में हरदा के अन्नपूर्णा भोजनालय के संचालक गुरमुख पेशवानी के पुत्र हिमांशु पेशवानी की अग्रिम जमानत निरस्त हुई। मिली जानकारी के अनुसार हरदा के अन्नपूर्णा भोजनालय के संचालक गुरमुख पेशवानी के पुत्र हिमांशु पेशवानी की ससुराल उदयपुर राजस्थान में है। गुरमुख की पुत्रवधु के द्वारा अपने पति हिमांशु पेशवानी, ससुर गुरमुख, सास अंजू पेशवानी, भांजा विक्की हिमानी उसकी पत्नि पूजा हिमानी एवं देवर राहुल पेशवानी के
विरूध्द महिला थाना उदयपुर राजस्थान में दहेज प्रताडना, छेडछाड, मारपीट एवं धोखाधडी का अपराध कमांक 197/2023 अंतर्गत धारा 498ए, 406, 420, 354, 341 323 भारतीय दण्ड संहिता का दिनांक 11/10/2023 को पंजीबंध्द करवाया है, इस मामले में अभी कुछ दिन पूर्व ही उदयपुर राजस्थान की पुलिस आरोपीयों को पकडने हरदा आई थी। परंतु वह नही मिले उसके बाद पति हिमांशु पेशवानी की और से उदयपुर सेशन न्यायालय महिला उत्पीडन जिला न्यायाधीश संवर्ग के समक्ष अग्रिम जमानत
का आवेदनपत्र पेश किया।

जिसका प्रकरण कमांक –

07/2024 आरजेयूडी010000502024 में आज दिनांक 09/01/2024 को आदेश पारित किया, एवं पति हिमांशु पेशवानी की अग्रिम जमानत का आवेदनपत्र अस्वीकार कर खारिज कर दिया गया।
माननीय न्यायालय ने यह पाया कि, प्रार्थी/अभियुक्त हिमांशु मुख्य अभियुक्त है, एवं उसके विरूध्द आलिप्तकारी साक्ष्य है, इस कारण उसको अग्रिम जमानत का लाभ दिया जाना उचित प्रतीत नही होता है ।

- Install Android App -

Don`t copy text!