ब्रेकिंग
katni News :सुंअर का शिकार करने वाले 10 लोगो को वनकर्मियों ने पकड़ा, ग्रामीण उन्हे छुड़ाकर अपने साथ ले... Accident News : तेज रफ्तार ट्रक ने महिला को मारी टक्कर मौके पर हुई मौत, भीड़ ने किया चक्काजाम Sirali news: सिराली में आदिवासी की मानव सुधार पट्टा से पिटाई, 40 हजार की घुस मामले में जयश कल 25 फरव... Harda : कट्टा लहराते धमकी देते गुंडों का वायरल हुआ था विडियो, एसपी ने लिया एक्शन, पुलिस ने 24 घंटो म... Aaj Ka Rashifal: आज 24/02/2024 का राशिफल, Daily Horoscope हरदा ब्लास्ट : भूख हड़ताल के पहले दिन प्रशासन की तरफ दागे गए अनसुलझे सवाल , जवाब न मिलने तक आगे बातची... हंडिया:सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हंडिया में अरुण तिवारी बने विधायक प्रतिनिधि नियुक्त, Harda: अवैध कुलावे से  बर्बाद हो रहा  सरकार का पानी और राजस्व, सिंचाई विभाग की नाक के नीचे चल रहे  अ... Harda Mandi Bhav: आज 23/02/2024 का हरदा, सिराली, टिमरनी, खिरकिया मंडी भाव | Harda Mandi Rates Today Harda News: अवैध मदिरा के विक्रय व संग्रहण के विरूद्ध कार्यवाही कर 10 प्रकरण दर्ज किये

Big Breaking: निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने जिस महिला को मृत घोषित किया, अंतिम संस्कार से पहले हो गई जिंदा, पति रह गया हैरान, जाने कहा का है मामला

हमीरपुर : यूपी के हमीरपुर जिले में एक हैरत अंगेज खबर सामने आई जहा कैंसर से पीड़िता महिला को इलाज के दौरान डॉक्टरों ने मृत घोषित कर शव को लपेट कर परिजनो को दे दिया। परिजन भी महिला के अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे। पूरे रिश्तेदार और गांव के लोग महिला के अंतिम संस्कार की तैयारी में लगे थे। की अचानक महिला उठ कर बैठ गई। और पानी मांगा। महिला को जिंदा देखकर परिवार वालो का खुशी का ठिकाना नही रहा। लेकिन मृत्यु के बाद जिंदा होकर 18 दिन परिवार के साथ महिला रहने के बाद फिर उसने दम तोड दिया।

यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश राज्य के राठ कोतवाली के सदर गांव का है। ब्लड कैंसर से ग्रसित महिला रहती थी। मृतका को 18 दिन पहले जालंधर के निजी अस्पताल ने मृत घोषित कर दिया था। डॉक्टरों ने ‘शव’ को परिजनों को सौंप दिया था. मगर रास्ते में महिला की सांसें चलने लगीं | जिसे देख परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गई. लेकिन अब 18 दिन बाद महिला की मृत्यु हो गई है. उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

बता दें कि अनीता नाम की महिला कैंसर पेशेंट थी। उसका पति मातादीन रैकवार मजदूर है। दोनो पति पत्नी एक दूसरे से बहुत प्रेम करते थे। अनीता को 18 दिन पूर्व जालंधर के निजी अस्पताल ने मृत घोषित कर दिया था और डॉक्टरों ने शव को पैक कर के दे दिया था. पति मातादीन एंबुलेंस से शव लेकर आ रहा था | तभी बीच रास्ते अनीता की सांसें चलने लगीं | वो उठकर बैठ गई थी और पानी मांगा था. पत्नी को जिंदा देख कर पति की खुशी का ठिकाना नहीं रहा था |

लेकिन उसकी खुशी ज्यादा दिन तक टिक नहीं सकी। अनीता ने बीते बुधवार को घर परिवार के छोड़कर भगवान के घर चली गई। उसका अंतिम संस्कार बुधवार दोपहर को किया गया।

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

Don`t copy text!