ब्रेकिंग
Gwaliear News : अक्षया हत्याकांड की गवाह की मां पर चली गोली Weathar Update: मौसम ने बदले तेवर छिंदवाड़ा, बैतूल सहित म.प्र. के शहरों में हुई वर्षा गिरे ओले Ladli Behna Yojana 3rd Round : अब लाडली बहनों को नहीं करना होगा तीसरे चरण का इंतजार, अभी तुरंत देखें... MP Cycle Distribution Scheme 2024: राज्य सरकार मुफ्त में देगी साइकिल, देखे पूरी जानकारी Rewa News : विंध्या श्रीवास्तव से हुई लूट के आरोपी पुलिस ने पकड़े लूट का माल जब्त किया Khandwa News: खंडवा इंदौर रोड पर तेज रफ्तार डंपर यात्री बस में भिड़त, 20 यात्री घायल vedic clock In Ujjain: उज्जैन में दुनिया की पहली वैदिक घड़ी का 01 मार्च को वर्चुअली अनावरण करेंगे PM... Harda News: किसान की गोली मारकर हत्या मामले में 24 घंटे में हंडिया पुलिस ने किया खुलासा, दो आरोपी गि... Harda: सिटी कोतवाली पुलिस ने पशु क्रूरता के मुख्य आरोपी फहाद को किया गिरफ्तार Harda Big news: व्हाट्सएप पर बंदूक लहराते विडियो हुआ था वायरल, पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़ा देशी पिस...

Breaking News: सरकारी शिक्षक कोंचिंग में पढ़ायेगें तो होंगे बर्खास्त

 हर गली-मोहल्ले में खुल रहे कोचिंग संस्थान जिन्होंने छात्रों को 100 प्रतिशत पास होने का वादा किया है, उन्हें शिक्षा विभाग ने नजरबंद करने का आलम किया है। सरकार ने निजी कोचिंग संस्थानों में पढ़ाने वाले सरकारी शिक्षकों के खिलाफ कठोर कदम उठाने का फैसला किया है।

मकड़ाई एक्सप्रेस 24 पटना : राज्य के कोचिंग संस्थानों में इन सरकारी शिक्षकों के प्रवेश से जुड़े रिपोर्ट्स के बावजूद, जो नकारात्मक प्रभाव डालते हैं, वे अपनी नौकरियों से बर्खास्त हो सकते हैं। राज्य सरकार इस मामले में कठोर कदम उठाने का निर्णय कर चुकी है। कोचिंग संस्थानों में इन शिक्षकों की उपस्थिति पर नजर रखने के लिए, राज्य ने शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव से निर्देश जारी किए हैं। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के निर्देश पर कोचिंग में पढ़ाने वाले सरकारी शिक्षकों को चिह्नित करके उनके बारे में पूरा ब्योरा सभी जिलों से मांगा गया है। यह जानकारी 10 जनवरी तक उपलब्ध करानी है। शिक्षा विभाग के निर्देश के अनुसार, सभी जिलों में कोचिंग संस्थानों में पढ़ाने वाले सरकारी शिक्षकों की पहचान के लिए जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है।

कोचिंग संस्थानों को शपथ पत्र देना होगा – इस मामले में, सभी जिला शिक्षा अधिकारियों, जिला प्रखंड पदाधिकारियों, और विद्यालयी निरीक्षकों को शिक्षा विभाग द्वारा दिशा दी गई है कि वे सुनिश्चित करें कि उनके जिला में कोई भी सरकारी शिक्षक कोचिंग में पढ़ा नहीं रहे हों। इन शिक्षकों की जानकारी निश्चित तिथि तक शिक्षा विभाग को प्रस्तुत की जानी चाहिए। ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कदम उठाने की सख्त कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

Don`t copy text!