ब्रेकिंग
Harda News: कलेक्टर श्री आदित्य सिंह ने बैठक में दिये निर्देश: सभी विभागों की रंगाई पुताई हो, साफ सफ... Harda News: अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़ितों को पात्रतानुसार राहत दिलाएं: कलेक्टर श्री सिंह ने... Harda News: अमानक कीट नाशक व खाद बीज विक्रय करने वाले संस्थानों के लायसेंस निलंबित व निरस्त करने की... Rajgarh News : आपसी विवाद में पति ने पत्नि पर किया फायर, पत्नि की हुई मौत Crime News : 21 वर्षीय स्टेज परफाॅर्मर से साथियों ने नशीला पदार्थ खिलाकर किया गैंगरेप Pradhan Mantri Awas Yojana: प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया हुई शुरू, ऐसे करें अप... इस दिन होगा लाडली बहना योजना का तीसरा चरण शुरू, राज्य की वंचित महिलाएं कर सकेंगी आवेदन फार्म जमा, दे... CM Kisan Kalyan Yojana: के अंतर्गत ऐसे करें आवेदन फार्म जमा, मिलेगा ₹6000 का लाभ, देखिए पूरी जानकारी Ladli Bahana Awas Yojana: मध्य प्रदेश सरकार लाडली बहना आवास योजना की पहली किस्त में देगी ₹30000, यहा... 'फ्री सिलाई मशीन योजना 2024' के अंतर्गत भारत सरकार महिलाओं को मुफ्त में देगी सिलाई मशीन, यहां देखें ...

Harda: बेटी ने किया पिता का अंतिम संस्कार छीपानेर के शोभाराम के नहीं थे पुत्र

तीनों बेटी सुनीता-विनोद, नर्मदी-रामचरण और कृपा-शुभम ने कांधा देकर पिता की पार्थिव देह को मुक्तिधाम पहुंचाया।

हरदा। अब समाज की बेटियां हर वह कार्य करने आगे आ रही हैं जो कभी बेटों के हक में माना जाता रहा है। जिले के ग्राम छोटी छीपानेर निवासी को जिंदगी भर शायद ग़म रहा होगा कि पुत्र न होने से उनका अंतिम संस्कार कौन करेगा। मगर उनकी तीनों बेटियों ने आगे आकर पुत्री के साथ पुत्र का कर्त्तव्य भी निभाकर समाज में विरली मिसाल पेश की।

जानकारी के अनुसार पुत्र विहीन रहे छोटी छीपानेर के निवासी शोभाराम पटेल का विगत दिवस 75 वर्ष की आयु में देवलोक गमन हो गया।

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

मगर उनकी तीनों बेटी सुनीता-विनोद, नर्मदी-रामचरण और कृपा-शुभम ने कांधा देकर पिता की पार्थिव देह को मुक्तिधाम पहुंचाया। यहां भी इन बहनों ने मुखाग्नि देकर अग्निदाह संस्कार संपन्न कराया। यह जानकारी जांगड़ा समाज के पूर्व जिलाध्यक्ष रामविलास वकोरिया ने दी। उन्होंने कहा कि इन बेटियों ने बेटे का फर्ज निभाकर अपने दिवंगत पिता का मान बढ़ाया। उनकी हिम्मत और कर्त्तव्यनिष्ठा को देखकर समाज के लोग अभिभूत हुए हैं। ऐसी बेटियां नसीबों से मिलती हैं।

Don`t copy text!