ब्रेकिंग
Aaj Ka Rashifal | राशिफल दिनांक 21 जून 2024 | जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे सिवनी मालवा : मुख्यमंत्री की मंशा को पलीता लगा देगें ये नेता और अधिकारी, विधायक के गृह ग्राम बघवाड़ा... खण्डवा : खण्डवा हत्या के आरोपीयों को तत्काल गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया Harda News: हरदा जिला अस्पताल में महिला वार्ड में भर्ती लड़की हुई गायब, पुलिस ने 12 घटों के अंदर गुम... Harda News: '21 जून योग दिवस पर विशेष' सूर्य किरणो से प्रदेश के 14 जिलों में कर्क रेखा पर आज शून्‍य ... खंडवा : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर विशेष, पानी में तैरते हुए योग, इस शख्स की कला देखकर हो जाएंगे हैरा... Harda News: ‘‘स्वयं एवं समाज के लिए योग’’ की थीम पर आयोजित होगा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम Harda News: बिरसा मुंडा स्व-रोजगार योजना के तहत मिलेगा 50 लाख रुपये तक का ऋण Harda News: पल्स पोलियो अभियान के तहत 23 से 25 जून तक बच्चों को पिलाई जाएगी दवा Harda News: जिला स्तरीय रोजगार मेले में 143 युवाओं का हुआ प्राथमिक चयन

Indore News महिला ने लगाई फांसी, पति और उसकी प्रेमिका पर लगाए गंभीर आरोप, हाथ पर लिखा सुसाइड नोट

मकड़ाई एक्सप्रेस 24 इंदौर । पति पत्नि के बीच विवाद की स्थिति तब ज्यादा दुखदायी हो जाती है तब किसी तीसरे से अफेयर की बात सामने आ जाए। ऐसे एक मामले में एक महिला ने परेशान होकर फांसी लगाई ओर सुसाइड नोट अपने हाथों पर लिखा। मराठी भाषा में महिला ने पति और उसकी प्रेमिका पर प्रताड़ना के आरोप लगाए है।पुलिस ने दोनो के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है।

पति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया

मामला शहर के तेजाजी नगर की सिल्वर स्प्रिंग टाउनशिप की है। जहां कविता उम्र 40 वर्ष ने फांसी लगाई। महिला के हाथ पर सुसाइड नोट के आधार पर उसके पति पंकज और प्रेमिका नम्रता के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। बताया जा रहा है कि परिजन जब घर आए तो कविता को फांसी पर लटकते देखा और उसके हाथ में सुसाइड नोट लिखा दिखा पुलिस को जानकारी दी गई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि कविता के पति पंकज का नम्रता से अवैध प्रेम संबंध था कविता ने कई बार पंकज को समझाया कि नम्रता को छोड़ दे मगर वह उल्टे कविता को छोड़ने की धमकी देता था। नम्रता भी यही टाउनशिप में ही रहती है।

सुसाइड नोट में पंकज और नम्रता को मिले फांसी

कविता ने आत्महत्या करने से पहले अपने हाथ पर सुसाइड नोट मराठी में लिखा, मैं दो सालों से परेशान हुं। मुझे तभी न्याय मिलेगा जब पंकज और नम्रता को फांसी होगी। महत्वपूर्ण बात तो यह है कि कविता की दो बेटिया भी है| जिसमें एक बेटी पूणे में पढ़ती है। उन्होने भी बताया कि मां को पिता बहुत परेशान करते थें।

- Install Android App -

Don`t copy text!