ब्रेकिंग
ग्रामीण परंपरागत खेलों को बढ़ावा देती ग्रामीण संस्कृति,बचपन के देशी खेल को बढ़ावा दे रहे पंचायत के ग... देवास जिले में 23 जून रविवार को जन्म से 5 वर्ष तक के बच्चो को पिलाई जाएगी पोलियों की दवा हरदा जिले में प्रथम आगमन पर केंद्रीय मंत्री श्री उइके का हुआ जगह-जगह स्वागत, मंत्री श्री उइके ने पौध... Aaj ka rashifal: आज दिनांक 23/06/2024 का राशिफल, जानिए आज क्या कहते है। आपके भाग्य के सितारे केंद्रीय राज्य मंत्री बनने के बाद सांसद डी डी उईके का हरदा प्रथम आगमन पर किया स्वागत! Big news harda: आकाशीय बिजली गिरने से खेत में काम कर रहे मजदूर की हुई मौत, दो दिन की छुटी मे आया फौज... सिवनी मालवा: चुनिंदा दुकानों पर मिलती है प्राइवेट स्कूलों की किताब, कॉपी लेने का भी दबाव,  Harda news: बहु के गंभीर आरोप पर बुजुर्ग सास ससुर बोले हम छटवा हिस्सा देने को तैयार हु। बहु मांग रही... Harda Big news: कार सवार दो युवकों से एक पिस्टल एवं तीन जिंदा कारतूस जब्त! Harda Big news: हरदा पुलिस की बड़ी कार्यवाही : फरार आरोपी सौरभ विश्नोई गिरफ्तार, आरोपी के कब्जे से 5...

Kheti kisani harda: कृषि वैज्ञानिकों ने मूंग फसल का किया निरीक्षण

हरदा / कृषि विज्ञान केन्द्र, हरदा के वैज्ञानिक डॉ. सर्वेश कुमार व डॉ. मुकेश कुमार बंकोलिया ने गुरूवार को ग्राम नकवाड़ा, बूँदड़ा, बालागांव, कनारदा, सुखरास, कुकरावद व रहटा का भ्रमण कर ग्रीष्मकालीन मूंग फसल का निरीक्षण किया। कृषि विज्ञान केन्द्र प्रमुख डॉ. संध्या मूरे ने बताया कि वर्तमान में मूंग फसल वानस्पतिक वृद्धि व विकास की स्थिति में है, निरीक्षण के दौरान फसल में किसी प्रकार का रोग व कीटों का प्रकोप नहीं देखा गया। फसल सामान्य रूप में देखी गई। फसल की निरंतर निगरानी हेतु कृषकों को सलाह दी गई।

निरीक्षण के दौरान मूंग की फसल पर भभूतिया रोग के लक्षण दिखाई देने पर नियंत्रण हेतु फफूंदनाशी दवा क्लोरोथेलोनील की मात्रा 500 ग्राम प्रति एकड़ अथवा टेबुकोनाजोल$सल्फ़र 500 ग्राम प्रति एकड़ की दर से शाम या सुबह के समय छिड़काव करने की सलाह दी गई।

मौसम को देखते हुए किसानों को मूंग फ़सल का निरंतर निरीक्षण करने की समझाइश दी गई और इल्ली आदि के नियंत्रण हेतु कीटनाशी दवा प्रोफेनोफास व सायपरमेथ्रिन 500 मिली प्रति एकड़ अथवा इंडोक्साकार्व 14.5 एस सी 200 मिली प्रति एकड़ की दर से 120-125 लीटर पानी के साथ पॉवर पम्प द्वारा सुबह शाम छिड़काव सुनिश्चित करने की भी सलाह दी गई।

डॉ. मूरे ने किसानों से अपील की है कि फ़सल में किसी अन्य कीट रोग से संबंधित जानकारी के लिये कृषि विज्ञान केन्द्र, कोलीपुरा, हरदा में आकर या मोबाइल नम्बर 9713579386 व 7898516502 पर फ़ोन करके भी कृषि वैज्ञानिकों से परामर्श ले सकते हैं।

- Install Android App -

Don`t copy text!