ब्रेकिंग
हरदा: बलाही समाज की बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 18 कन्याओं को निशुल्क सिलाई मशीन वितरण की गई, श्री गणेश भावसार पालक महासंघ मध्यप्रदेश (रजि.) के खंडवा जिला अध्यक्ष नियुक्त हंडिया : आधा घंटा हुई झमाझम बारिश,मौसम हुआ सुहाना, Harda:एक पौधा मां के नाम" अभियान के तहत सर्किट हाउस परिसर में हुआ पौधारोपण, कलेक्टर श्री सिंह और अन्... Harda Big news: सोने चांदी के आभूषण चोरी करने वाले 03 आरोपी गिरफ्तार, 1 लाख 65 हजार के सोने चांदी के... सरकार की शिक्षा विभाग में लचर व्यवस्था आई सामने,जिला अधिकारी का पुतला दहन करेंगे अभाविप , दिया पुलिस... ब्राह्मण समाज हरदा ने पर्यावरण प्रेमी गौरीशंकर मुकाती का सम्मान किया । सिवनी मालवा: शाम होते ही शराबी सड़क पर झलकाते है जाम, पार्किंग सड़क पर आमजन होते है परेशान, Aaj ka rashifal: आज दिनांक 14/07/2024 का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे Khandwa News: नेशनल लोक अदालत शिविर संपन्न ( महापौर ने किया, गुरूपूर्णिमा मेला स्थलो का निरीक्षण )

Harda: किसान का दर्द प्रशासन की अनदेखी, पाथ कंपनी के अधिकारियों की मनमानी, 4 माह बाद भी खेतो में जाने वाला रास्ता बनाकर नही दे रही कंपनी

हरदा : जनसुनवाई में शिकायत करने के चार माह बीत जाने के बाद भी किसान की समस्या का समाधान नहीं हुआ। कृषक संजय भायरे ने बताया की अधिकारियों की अनदेखी और नेशनल हाइवे राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण एजेंसी कंपनी के अधिकारियों से में परेशान हु। विगत चार माह से शासन से वार्ड क्रं. 35 वीर सावरकर वार्ड स्थित अपनी कृषि भूमि पर आवागमन हेतु मार्ग की मांग कर रहा है। किंतु आज दिनांक तक कार्यवाही शून्य शून्य है। इस संदर्भ में कृषक द्वारा आर.आई. की रिपोर्ट, राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा भ्रमित करने वाला जवाब, एवं पूर्व सक्षम अधिकारी की रिपोर्ट जनसुनवाई के माध्यम से प्रस्तुत कर चुका है।

श्री भा ने बताया की इस संदर्भ में कलेक्टर महोदय के आदेश पर दिनांक 23 सितम्बर 2023 को पूर्व सक्षम अधिकारी श्री आशीष खरे जी एवं राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना के वर्तमान परियोजना निदेशक साहू जी भी मौका मुआयना कर चुके हैं।

इसके उपरांत दिनांक 15.01.2024 को वर्तमान सक्षम अधिकारी भू अर्जन के आदेश पर राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना की ओर से मयूर जैन व अन्य अधिकारी भी मौका मुआयना कर चुके हैं। किंतु राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना के अधिकारी आज भी कृषक को उसके खेत में जाने का मार्ग बताने में असमर्थ हैं।

अतिक्रमण के विषय में तहसीलदार द्वारा मौके से एक अतिक्रमण तत्काल हटवाया गया एवं एक अतिक्रमणकारी को दो दिन कर समय 09 जनवरी 2024 को दिया गया था किंतु वह अतिक्रमण आज दिनांक को भी मौके पर स्थित है | क्या कृषक जिला प्रशासन की कार्यप्रणाली पर विश्वास कर सकता है कि जिला प्रशासन कृषक को उसके कृषि कार्य हेतु खेत में जाने हेतु मार्ग मुहैया कराने में सक्षम होगा या नही ।

- Install Android App -

Don`t copy text!