ब्रेकिंग
मनावर नगर में प्रति दिन यातायात जाम की स्थिति को देखते हुए, मनावर में बाय पास की मांग को लेकर राज्यप... Aaj Ka Sariya Ka Rate: सरिया/सीमेंट के भाव में आ रही है तेजी, जानिए क्या है आज के भाव (21.04.24) cem... Aaj Ka Rashifal: आज दिनांक 21/04/2024 का राशिफल, जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे बिग न्यूज़ खिरकिया: नपा कर्मचारी को 5 माह से नहीं मिला वेतन, परेशान कर्मचारी ने खाया जहरीला पदार्थ हंडिया : सीआरपीएफ के डीआईजी ने शहीदों के परिवार जनों से की भेंट ! जाना परिजनों का कुशल क्षेम हरदा:पीएम मोदी के दौरे के पूर्व सभास्थल के  मालिक कृषकों ने की शिकायत ! -  किसान के साथ अन्याय हुआ ... Harda News: 23 अप्रैल को कृषि उपज मण्डी में नीलामी कार्य बंद रहेगा Harda News: निर्धारित प्रावधानों का पालन न करने वाले 2 स्कूलों पर 2-2 लाख रुपए का अर्थ दंड लगाया गया... Harda News: जिला जेल में स्वास्थ्य परीक्षण व विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न Harda News: मतदान दिवस के 48 घंटे पूर्व से मतदान समाप्ति तक बंद रहेंगी मदिरा दुकानें, कलेक्टर श्री स...

vedic clock In Ujjain: उज्जैन में दुनिया की पहली वैदिक घड़ी का 01 मार्च को वर्चुअली अनावरण करेंगे PM मोदी

महाकाल की नगरी उज्जैन में 1 मार्च को नरेंद्र मोदी देश को पहली वैदिक घड़ी का वर्चुअली लोकार्पण करेंगे। इस घड़ी की खासियत यह है की इसमें सामान्य घड़ी के जैसे घंटे या मिनिट की सुई नही होंगी ये वैदिक घड़ी पूरी तरह से डिजिटल होगी। इस घड़ी में 48 मिनिट का एक घंटा होगा। यह घड़ी काल गणना शुभ मुहूर्त,ग्रह स्तिथि,सूर्य–चंद्र ग्रहण,व्रत, चौघड़िया और तयोहरो के बारे में जानकारी देगी। इस घड़ी का निर्माण कार्य CM मोहन यादव के विधायक रहते किया गया था।

क्या है इसकी विशेषताएं :–

इस घड़ी के माध्यम से आगे आने वाले हिंदू धर्म के सभी पर्वो, मुहूर्त और भी अन्य चीजों के बारे में जानकारी मिलेगी।इस घड़ी का इंस्टालेशन उज्जैन के जंतर मंतर के पार एक टावर का निमार्ण कर उस टावर की पांचवी मंजिल पर लोहे की फ्रेम में किया गया है। ये वैदिक घडी पूरी तरह इंटरनेट से कनेक्टेड रहेगी।इसमें एक एलईडी स्क्रीन रहेगी जिसमे आम नागरिक अच्छे के उसमे दी गई जानकारी को समझ सके।

जानिए कैसे काम करेगी ये घड़ी :–

दुनिया की एकमात्र वैदिक घडी जिसे दिल्ली आईआईटी के स्टूडेंड द्वारा बनाया गया है। इस घड़ी में ऋग्वेद के अनुसार हिंदुकाल गणनाओं एवम ग्रीनविच समय पद्धति से समय को देखा जा सकेगा इस घड़ी में 30 घंटे 30 मिनिट 30 सेकंड का समय दिखेगा।18 से 20 लोगो को टीम द्वारा क्रेन की सहायता से इस घड़ी को टावर पर चढ़ाया गया है। इस घड़ी को लगाने का मकसद उज्जैन की प्राचीन गौरवमयी विरासत को कायम रखना है। इस घड़ी के उज्जैन में सफलता पूर्वक संचालित होने के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में भी इसका इंस्टालेशन किया जा सकता है। इस घड़ी का एक एप्लीकेशन में लॉन्च किया जाएगा जिससे आम नागरिक अपने मोबाइल या कंप्यूटर में इंस्टाल करके भी इस वैदिक घड़ी का उपयोग शुभ मुहूर्त काल ग्रह नक्षत्र आदि की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

- Install Android App -

Don`t copy text!