ब्रेकिंग
HARDA BIG NEWS: स्कूल की छात्रा से मनचले दो युवको ने की छेड़छाड़, रास्ता रोका बोला में तुमसे शादी करना... स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता हुई आयोजित, पैरंट्स को दिए टिप्स चांदनी चौक मित्र मंडल द्वारा भव्य पंडाल में माँ दुर्गा की स्थापना, होंगे रास गरबा धार्मिक नगरी में नवरात्र की धूम : पहले दिन पांडालों में विराजी मां दुर्गा की प्रतिमाएं अम्बा में सांसद विधायक ने नलजल योजना का भूमिपूजन व सेवा सहकारी संस्था भवन का किया लोकार्पण देवतालाब में क्लस्टर स्तरीय क्रेडिट कैंप संपन्न स्वस्थ बालक बालिका स्पर्धा सम्पन्न पी.एम. सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के तहत मिलेगी आर्थिक सहायता टंट्या मामा आर्थिक कल्याण योजना में मिलेगा 1 लाख रूपये तक का ऋण सीएम हेल्पलाइन में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी सम्मानित

3 साल बाद दिल्ली में लौटा शीतलहर का प्रक्रोप, 2 दिन का ऑरेंज अलर्ट जारी

Header Top

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज की सुबह भी काफी ठंड रही और पारा गिरकर 4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। इससे शहर का तापमान इस मौसम के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया। मौसम विभाग के मुताबिक, 22 दिसंबर तक दिल्ली में शीत लहर जारी रहेगी। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि शहर का न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम के औसत से चार डिग्री कम है। यह इस महीने का न्यूनतम तापमान है। बता दें कि दो साल बाद दिल्ली शीत लहर झेल रही है। शीत लहर के चलते दिल्ली में गुरुवार और शुक्रवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली की कुछ जगहों में ज्यादा सर्दी पड़ सकती है, इतना ही नहीं जमीन पर पड़ी पानी की बूंदें भी जमती हुई दिखाई पड़ सकती हैं। इससे पहले 2011 में शीत लहर का प्रकोप देखने को मिला था। तब 4 दिन शीत लहर का प्रकोप देखने को मिला था। उसके बाद 2014 में तीन दिन शीत लहर का प्रकोप था। साल 2015 में एक दिन शीत लहर चली थी। स्काइमेट के अनुसार जब भी कोई वेस्टर्न डिस्टरबेंस गुजरता है तो हवाएं ड्राई और ठंडी हो जाती हैं और इसी वजह से तापमान में कमी होती है। स्काइमेट के दिल्ली ही नहीं पंजाब, हरियाणा, नॉर्थ राजस्थान और वेस्ट उत्तर प्रदेश में भी शीत लहर का प्रकोप काफी अधिक है। बुधवार को, न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था तथा अधिकतम तापमान 22.3 डिग्री सेल्सियस रहा था।

क्या है शीतलहर
जब अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस या इससे कम पर पहुंच जाए या फिर तापमान सामान्य से 4 से 5 डिग्री सेल्सियस कम हो जाए तो उसे भी शीत लहर कहा जाता है। तापमान अगर 6 डिग्री सेल्सियस से कम हो जाए तो उसे सबसे खतरनाक स्तर की शीतलहर माना जाता है। फिलहाल दिल्ली में तापमान 4 से 5 डिग्री सेल्सियस के आसपास है जिसके कारण यहां ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

Shri

ऑरेंज अलर्ट क्यों 
मौसम विभाग समय-समय पर ऐसे अलर्ट्स जारी करता है। मौसम के बारे में सचेत करने के लिए भी कुछ चुनिंदा रंगों का प्रयोग किया जाता है। जैसे रेड अलर्ट, येलो अलर्ट या फिर ऑरेन्ज अलर्ट। ऑरेन्ज अलर्ट का मतलब है कि खतरा, तैयार रहें। जैसे-जैसे मौसम और खराब होता है तो येलो अलर्ट को अपडेट करके ऑरेंज कर दिया जाता है। इसमें लोगों को इधर-उधर जाने के प्रति सावधानी बरतने को कहा जाता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Don`t copy text!