ब्रेकिंग
हरदा: बलाही समाज की बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 18 कन्याओं को निशुल्क सिलाई मशीन वितरण की गई, श्री गणेश भावसार पालक महासंघ मध्यप्रदेश (रजि.) के खंडवा जिला अध्यक्ष नियुक्त हंडिया : आधा घंटा हुई झमाझम बारिश,मौसम हुआ सुहाना, Harda:एक पौधा मां के नाम" अभियान के तहत सर्किट हाउस परिसर में हुआ पौधारोपण, कलेक्टर श्री सिंह और अन्... Harda Big news: सोने चांदी के आभूषण चोरी करने वाले 03 आरोपी गिरफ्तार, 1 लाख 65 हजार के सोने चांदी के... सरकार की शिक्षा विभाग में लचर व्यवस्था आई सामने,जिला अधिकारी का पुतला दहन करेंगे अभाविप , दिया पुलिस... ब्राह्मण समाज हरदा ने पर्यावरण प्रेमी गौरीशंकर मुकाती का सम्मान किया । सिवनी मालवा: शाम होते ही शराबी सड़क पर झलकाते है जाम, पार्किंग सड़क पर आमजन होते है परेशान, Aaj ka rashifal: आज दिनांक 14/07/2024 का राशिफल जानिए आज क्या कहते है आपके भाग्य के सितारे Khandwa News: नेशनल लोक अदालत शिविर संपन्न ( महापौर ने किया, गुरूपूर्णिमा मेला स्थलो का निरीक्षण )

Pak-Iran War: ईरान-पाकिस्तान बार्डर पर गरजी बंदूकें, विवाद पर भारत ने कहा ‘नो कमेंट’ मगर हम आतंकवाद के खिलाफ है

ईरान-पाकिस्तान बार्डर पर मचा बबाल, हो रही बमबारी गरज रही बंदूकें 

मकड़ाई एक्सप्रेस 24 दिल्ली : इस समय पूरी दुनिया में युद्ध के हालात बने हुए है। जहां पूरे दो साल से अधिक का समय युक्रेन और रुस का युद्ध चला। इसके बाद हमास और इजरायल ने माहौल गर्मा कर रखा था। अब ईरान और पाकिस्तान में तना तनी चल रही है। ज्ञात हो कि ईरान नें बुधवार को बताया था कि पाकिस्तान की सीमा के अंदर जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर मिसाइल और ड्रोन के जरिए हमला किया घटना मंगलवार रात की थी।

पाकिस्तान ने किया जबाबी हमला –

इसी को लेकर पाकिस्तान ने भी आक्रोश जताया और दो दिन बाद गुरुवार को ईरान के कुछ क्षेत्रो में बमबारी की। अब एशिया में इन दोनों देशो की तनातनी ने माहौल को बदल दिया है। पाकिस्तान को आतंकियों की पनाहगाह माना जाता हैं आज वह खुद परेशान हो रहा है। कुछ दिन पूर्व उस पर अफगानिस्तान से दबाब डाला गया था। वहीं पाकिस्तान की गृह हलात भी ठीक नही है।

भारत ने कहा हम आतंकवाद के खिलाफ है –

- Install Android App -

ईरान और पाकिस्तान के विवाद को देख भारत ने भी अपना रुख स्पष्ट किया है। आतंकवाद के हम खिलाफ है। पाकिस्तान और इरान के मध्य विवाद में हम कोई बयानबाजी नही करना चाहते है। इन दो देशो के विवाद में अन्य देशों को समस्या बढ़ सकती है | क्योंकि इन सीमा से होते हुए दूसरे देशों के इम्पोर्ट एक्सपोर्ट आदि व्यापारिक लेन देन व तेल आयात आदि होते है। अगर इनका विवाद आगे बढ़ता है। अन्य देशों को भी इसका खासा असर पडे़गा।

Don`t copy text!