ब्रेकिंग
हरदा : संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को दिया समर्थन, किसानो की मांगों क... Harda News: उपभोक्ता आयोग का आदेश: बैंकों को देना होगी किसानों को फसल बीमा राशि Pm Aawas Yojana: पीएम आवास योजना में आवेदन करना हुआ आसान, यहां देखे आवेदन प्रक्रिया PM Kusum Solar Pump Yojana: सरकार दे रही है सोलर पंप पर 100% सब्सिडी, जल्दी करे आवेदन Good News: अब आयुष्मान कार्ड के जरिए सालाना 5 लाख नही 10 लाख तक करा सकते है मुफ्त उपचार, केंद्र ने ब... Harda News : प्रधानमंत्री श्री मोदी 29 फरवरी को देंगे मध्यप्रदेश को कई सौगातें Harda News: कलेक्टर श्री सिंह ने पटवारियों के डाक्यूमेन्ट सत्यापन कार्य का निरीक्षण किया Harda News: कलेक्टर श्री सिंह व सीईओ श्री सिसोनिया ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण किया Ladli Behna Yojana: 01 मार्च को आएगी लाडली बहना योजना की अगली किस्त, सीएम मोहन ने किया ऐलान BIG News up: ट्रेक्टर ट्राली तालाब में गिरा, 24 की मौत कई लोग घायल, सीएम योगी ने जताया गहरा दुख

Pak-Iran War: ईरान-पाकिस्तान बार्डर पर गरजी बंदूकें, विवाद पर भारत ने कहा ‘नो कमेंट’ मगर हम आतंकवाद के खिलाफ है

ईरान-पाकिस्तान बार्डर पर मचा बबाल, हो रही बमबारी गरज रही बंदूकें 

मकड़ाई एक्सप्रेस 24 दिल्ली : इस समय पूरी दुनिया में युद्ध के हालात बने हुए है। जहां पूरे दो साल से अधिक का समय युक्रेन और रुस का युद्ध चला। इसके बाद हमास और इजरायल ने माहौल गर्मा कर रखा था। अब ईरान और पाकिस्तान में तना तनी चल रही है। ज्ञात हो कि ईरान नें बुधवार को बताया था कि पाकिस्तान की सीमा के अंदर जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर मिसाइल और ड्रोन के जरिए हमला किया घटना मंगलवार रात की थी।

पाकिस्तान ने किया जबाबी हमला –

इसी को लेकर पाकिस्तान ने भी आक्रोश जताया और दो दिन बाद गुरुवार को ईरान के कुछ क्षेत्रो में बमबारी की। अब एशिया में इन दोनों देशो की तनातनी ने माहौल को बदल दिया है। पाकिस्तान को आतंकियों की पनाहगाह माना जाता हैं आज वह खुद परेशान हो रहा है। कुछ दिन पूर्व उस पर अफगानिस्तान से दबाब डाला गया था। वहीं पाकिस्तान की गृह हलात भी ठीक नही है।

यह भी पढ़े-

- Install Android App -

भारत ने कहा हम आतंकवाद के खिलाफ है –

ईरान और पाकिस्तान के विवाद को देख भारत ने भी अपना रुख स्पष्ट किया है। आतंकवाद के हम खिलाफ है। पाकिस्तान और इरान के मध्य विवाद में हम कोई बयानबाजी नही करना चाहते है। इन दो देशो के विवाद में अन्य देशों को समस्या बढ़ सकती है | क्योंकि इन सीमा से होते हुए दूसरे देशों के इम्पोर्ट एक्सपोर्ट आदि व्यापारिक लेन देन व तेल आयात आदि होते है। अगर इनका विवाद आगे बढ़ता है। अन्य देशों को भी इसका खासा असर पडे़गा।

Don`t copy text!